जागरूकता का दिया संदेश

जागरूकता का दिया संदेश

सागर (मप्र) : बेटी होने पर गाजे-बाजे पटाखे और मिठाई बांटकर , समाज को जागरूकता का दिया संदेश 21वीं सदी में आज भी देश के कई लोग लड़का और लड़की में फर्क करते हैं और भ्रूण हत्या जैसे क्रत्य करते हैं। और लड़की को अभिशाप समझते हैंलड़की होने पर मायूस हो जाते है। वहीं इससे उलटा हुआ है जैसीनगर के एक परिवार ने लड़की होने पर बैंड - बाजेपटाखे फोड़ व मिठाई बांटकर नाचते  हुए  बिटिया रानी का इस संसार में स्वागत किया। जैसीनगर के विकास रैकवार के यहां बेटी का जन्म सोमवार को हुआ था । जिसे आज़ जैसीनगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से छुट्टी के उपरांत रैकवार परिवार ने बड़े धूमधाम से अस्पताल से घर तक बैंड- बाजे ढोल -नगाड़े और पटाखे फोड़ कर मिठाई बांटकर पूरे परिवार और मोहल्ले के लोगों ने नाच गाकर बेटी होने की खुशी मनाई और समाज के लोगों को बिटियो के प्रति जागरूकता का संदेश दिया । वहीं बेटी के पिता विकास रैकवार का कहना है कि मेने आज बेटी होने पर बैंड- बाजे ढोल -नगाड़े और पटाखे फोड़ बिटिया रानी की आरती उतारकर उसका इस संसार में स्वागत किया है । और मैं  समाज से यही कहना चाहता हूं लड़के लड़की में फर्क नहीं करना चाहिए । आज के समय में लड़के तो मां बाप के बूढ़े होने पर उन्हें वृद्ध आश्रम में छोड़ आते हैं लेकिन बेटी हमेशा मां-बाप का साथ देती है। और लड़कों की  तरह ही लड़कियों को भी खूब पढ़ाओ और उन्हें आगे बढ़ने दो।

 

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED