सीएम कमलनाथ के ओएसडी के घर छापा

सीएम कमलनाथ के ओएसडी के घर छापा

इंदौर (मप्र): आयकर विभाग की टीम ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के घर छापा मारा है। देर रात 3 बजे 15 से अधिक अधिकारियों की टीम ने स्कीम नंबर 74 स्थित निवास पर छापा मारा। इसके साथ ही विजय नगर स्थित शोरूम सहित अन्य स्थानों पर भी जांच की जा रही है। बताया जा रहा है कि सर्विस के दौरान ही कई जांच चल रही थी। प्रवीण जब पुलिस अधिकारी थे तभी उनके खिलाफ कई मामले सामने आए थे।

बताया जा रहा है कि जब आयकर विभाग की टीम देर रात पहुंची तो प्रवीण कक्कड़ के परिवार के लोग घबरा गए थे। जब उन्हें पुख्ता हो गया कि ये सभी आयकर के अधिकारी हैं तो उन्होंने जांच में सहयोग किया।

प्रवीण कक्कड़ को पुलिस विभाग में रहने के दौरान उन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था। इसके बाद उन्होंने 2004 में अपने नौकरी छोड़ दी और कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के ओएसडी बन गए। कहा जाता है कि 2015 में कांतिलाल भूरिया को रतलाम-झाबुआ सीट पर मिली जीत प्रवीण कक्कड़ द्वारा बनाई रणनीति से मिली। दिसंबर 2018 में वे सीएम कमलनाथ के ओएसडी बने थे।
MP में सीएम कमलनाथ के निजी सचिव सहित दो करीबियों पर आयकर का छापा, 9 करोड़ रुपए बरामद

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ समेत दो करीबियों पर आयकर विभाग की छापेमारी चल रही है। इस छापेमारी में अबतक 9 करोड़ रुपए बरामद किए गए हैं। बताया जा रहा है कि ये छापेमारी देर रात तीन बजे से राजधानी दिल्ली और मध्यप्रदेश में भोपाल और इंदौर सहित 6 जगहों पर हो रही है।

कमलनाथ के निजी सचिव और करीबी राजेंद्र के ठिकानों पर छापेमारी खबरों के मुताबिक, आयकर विभाग ने कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ के विजय नगर स्थित घर पर छापा मारा है। इतना ही नहीं कमलनाथ के करीबी राजेंद्र कुमार मिगलानी के ठिकाने पर भी छापेमारी हो रही है। कहा जा रहा है कि 15 से भी ज्यादा अधिकारी छापेमारी कर रह हैं. छापेमारी के दौरान भारी पुलिस बल तैनात है।

छापेमारी में अभी और मिल सकती है राशि

दरअसल आयकर विभाग दिल्ली को जानकारी मिली थी कि लोकसभा चुनाव में कलैक्शन का खेल किया जा रहा है और हवाला की राशि इधर से उधर की जा रही है। इसी सूचना के आधार पर आयकर विभाग ने इस छापेमारी को अंजाम दिया है। सूत्रों के मुताबिक, आयकर विभाग का कहना है कि छापेमारी में मिले 9 करोड़ रुपए से और भी ज्यादा पैसा अभी मिल सकता है।

कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ ने ही विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए कैंपेन चलाया था और धनराशी जुटाई थी।

वहीं आयकर विभाग की इस कार्यवाही के बाद सियासत भी गरमा गई है। साथ ही कांग्रेस का आरोप है केंद्र की बीजेपी सरकार कांग्रेस पर दवाब बनाने का प्रयास कर रही है। लेकिन बीजेपी ने अपनी सफाई देते हुए कहा है यह एक विभागीय कार्यवाही है। इसमें किसी की कोई आपसी दुश्मनी नही है।

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED