मानव तस्कर गिरोह गिरफ्तार

मानव तस्कर गिरोह गिरफ्तार

सतना (मप्र) : आखिरकार सतना पुलिस ने मैहर अपहरित 07 वर्षीय मासूम बच्ची आशिकी के अपहरणकर्ताओं को सतना पुलिस गिरफ्तार करने में कामयाब रही है। पुलिस की माने तो गिरफ्तार गिरोह के सदस्य अन्तर्राजीय मानव तस्कर है। जो मासूम बच्चियों को अगवा कर वेश्यालयों में बेच देते थे। गिरोह के सदस्य को नागपुर से गिरफ्तार किया गया। गिरोह के तार बिहार के छपरा से जुड़े है  मैहर पुलिस द्वारा गिरफ्तार मुख्य आरोपी का जुलूस निकाला गयामौका पाते ही आरोपी भागने की कोशिश की जिस पर पुलिस ने जमकर खातिरदारी कर दी।सतना पुलिस टीमें बनाकर पूरे गिरोह को दबोचने की फिराक में है। पुलिस ने मैहर में प्रेस कांफ्रेंस कर यह खुलासा किया ।  

रीवा के मऊगंज थानाक्षेत्र के मिसिरगवां से जितेंद्र साकेत सपरिवार 05 मार्च को मैहर दर्शन आया था। 07 वर्षीय मासूम आशिकी साकेत का अपहरण कर लिया गया था। थाने में रिपोर्ट के बाद न तो कोई कार्रवाई हुई और न ही आशिकी पता चला। मामला सुर्खियां बना तो सतना पुलिस और रीवा एसटीएफ सक्रिय हुई। चार दिन पहले मुखबिर की सूचना पर रीवा के रायपुर कर्चुलियान से रानी तिवारी के घर से अगवा आशिकी को बरामद कर लिया गया। महिला आरोपी की निशानदेही पर मुख्य आरोपी भतीजे राकेश तिवारी को नागपुर के यमुना वेश्यालय से गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन आरोपी रानी का पति राजकुमार तिवारी फरार हो गया है। पूरी धर पकड़ में महाराष्ट्र की नागपुर पुलिस का सक्रिय सहयोग मिला। पूछताछ में मुख्य आरोपी राकेश तिवारी ने बताया कि मासूम बच्चियों को अगवा कर नागपुर वेश्यालय बेच देता था। राकेश के तार बिहार के छपरा से भी जुड़े थे। छपरा से भी बच्चियों की तस्करी कर नागपुर लाता था। सतना पुलिस स्पेशल टीम छपरा जाकर अंतरराज्यीय गिरोह को पकड़ने की फिराक में है। अपनी इस कामयाबी को सतना पुलिस ने मैहर में बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया के सामने प्रस्तुत किया। मैहर पुलिस ने गिरफ्तार मुख्य आरोपी राकेश तिवारी का जुलूस निकाला। ताकि जनता में अपराध के प्रति जागरूक हो सके और अपराधियों में खौफ पैदा हो सके। मौका पाते ही आरोपी राकेश तिवारी ने भागने की कोशिश की। जिस पर पुलिस ने दबोच लिया और सड़क पर ही जमकर खातिर कर दी।    

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED