नाथ के राज में अनाथ कांग्रेस विधायक

नाथ के राज में अनाथ कांग्रेस विधायक

धरमपुरी (मप्र) : हाल ही में मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव जीत कर आई कांग्रेस की सरकार में चुने गये अपने प्रतिनिधि को अपनी ही सरकार के खिलाफ जाना पड़ रहा है। जी हां कांग्रेस विधायक पांचीलाल मेड़ा ने मुख्यमंत्री कमल नाथ के नाम इस्तीफा लिख दिया। जिसके बाद इस्तीफे की खबर लगते ही कमलनाथ सरकार में हड़कंप मच गया। इसके बाद कमलनाथ केबिनेट मंत्री मामले का संज्ञान लेने पहुंचे और उसे सुलझाने की कोशिश करने लगें। कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और खाद्य मंत्री प्रद्मुम्न सिंह तोमर आनन-फानन में विधायक विश्राम गृह पहुंचे। जहां पांचीलाल मेड़ा रुके हुए हैं। दोनों ने उन्हें मनाने की कोशिश की और उन्हें लेकर सीएम कमलनाथ से मिलवाने के लिए रवाना हो गये।

दरअसल मामला यह है, पांचीलाल मेड़ा धरमपुरी से विधायक हैं। उन्होंने बताया, शराब माफिया की गुंडागर्दी और शासन की मिलीभगत से परेशान होकर मैंने यह कदम उठाया हैं। विधायक का कहना है, स्कूल के पास बनीं दो शराब दुकानों को हटाने के लिए मैंने अपने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की थी। वहीं मेड़ा का आरोप है कि लगातार और बार-बार शिकायत के बाद भी शासन और प्रशासन शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा। शराब माफिया के दबाव में पुलिस ने उन्हें 4 घंटे तक थाने में बैठाकर रखा। मेड़ा इतने गुस्से में हैं कि वो इस्तीफा देने के लिए राजधानी भोपाल पहुंच गए।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री को भेजे अपने इस्तीफे में विधायक मेड़ा ने लिखा, कि मैं और मेरे कार्यकर्ताओं के खिलाफ शासकीय शराब दुकान के ठेकेदार द्वारा अभद्र व्यवहार एवं जाति सूचक शब्दों का प्रयोग किया गया, और मेरे खिलाफ षडयंत्र रचा गया जिससे मैं बहुत दुखी हूं और अपने पद से इस्तीफे दे रहा हुं।

 

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED