कपिल को सिद्धू का बचाव करना पड़ा भारी

कपिल को सिद्धू का बचाव करना पड़ा भारी

#BoycottKapilSharma
#BoycottSiddhu

 द कपिल शर्मा शो को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। पुलवामा हमले पर पाकिस्तान की तरफदारी कर नवजोत सिंह सिद्धू को खूब आलोचना झेलनी पड़ी और सिद्धू के इसी बयान का सपोर्ट कर अब कॉमेडियन कपिल शर्मा फंस गए हैं। पुलवामा हमले पर नवजोत सिंह सिद्धू के विवादित बयान के बाद उन्हें द कपिल शर्मा शो से हटाने और न हटाने पर शो को बॉयकॉट करने की मांग चल रही थी। जिसके बाद चैनल ने बिना देरी किए सिद्धू को शो से हटा दिया। हाल ही में कपिल शर्मा ने इस पर सिद्धू का बचाव करते हुए बयान दिया और अब इस बयान को लेकर वह खुद ही फंसते नज़र आ रहे हैं। सिद्धू का सपोर्ट करने पर सोशल मीडिया यूजर्स कपिल को गद्दार बोल रहे हैं। दरअसल, जब कपिल से सिद्धू के विवादित बयान और उन्हें हटाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा - 'ये बहुत छोटी चीजें हैं और एक तरह से प्रचार का हिस्सा भी हो सकता है। मुझे लगता है कि किसी को बैन करना या शो से हटाना कोई समाधान नहीं है। हमें इसके स्थाई समाधान की तलाश करने की जरूरत है। वे अपने राजनीतिक कामों में व्यस्त और इसी वजह से वो शो को अपना समय नहीं दे पा रहे हैं'। इस पर द कपिल शर्मा शो के दर्शकों और कपिल शर्मा के फैंस ने अब इस बयान का तूल पकड़ लिया है और ट्विटर पर कपिल और सोनी टीवी को बॉयकॉट करने को लेकर #BoycottKapilSharma हैशटैग ट्रेंड करने लगा है।
पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तानी कलाकारों को बैन करने पर कपिल ने कहा कि हम सरकार के साथ है, लेकिन हमें इसके स्थाई समाधान की जरूरत है। पुलवामा में हुई कायरतापूर्ण हरकत जिसमें हमारे जवान मारे गए, उसे भुलाया नहीं जाना चाहिए और दोषियों को सजा मिलनी चाहिए। आपको बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में भारत के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे।
कपिल शर्मा के बयान पर एक अन्य यूजर ने लिखा- 'शर्म आनी चाहिए ऐसे बयान दे रहो हो। संगत का असर है, गद्दार के साथ रहकर तुम भी गद्दारी पर उतर आए'। कुछ यूजर्स तो लोगों से अपील कर रहे हैं वे कपिल के शो का बायकॉट करें।
आपको बताते चलें कि नवजोत सिंह सिद्धू ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद एक बयान दिया था कि इस तरह के कायराना आतंकी हमलों के लिए पूरे देश को ज़िम्मेदार ठहराना ठीक नहीं है। आकंतवादियों का दीन औ मज़हब नहीं होता। दुनिया में अच्छे, बुरे और बदसूरत लोग हैं। हर संस्थान में ऐसे लोग हेते हैं। हर देश में ऐसे लोग होते हैं। जो बुरा है, उसे सज़ा दी जानी चाहिए, लेकिन किसी बुरे इंसान के कायरतापूर्ण काम के लिए सबको दोष देना ठीक नहीं।

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED