निकला था पानी की तलाश में,खो दी अपनी जान

निकला था पानी की तलाश में,खो दी अपनी जान

मप्र में भीषण गर्मी के साथ सूखे के हालात बन चले हैं | स्थिति तो यहाँ बन चुकी है कि एक मजबूर ग्रामीण की जान पानी का एक कतरा तलाशते तलाशते ही चली गयी  | यह जानकर आप आश्चर्य चकित रह जाएँगे कि यह घटना कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री ओंमकार सिंह मरकाम के गृह ज़िले डिंडोरी की है | लोग ...बूंद बूंद  पानी के लिए तरस रहें  है और जिम्मेदार वेफ़िक्र लंबी तान कर सो रहें है |
मंगलू जी हाँ  ...यही नाम था उस शख्स का जो घर से पानी के तलाश में निकला था लेकिन सूखे कुएं में गिरकर काल के गाल में समा गया | साथ रहने वाले ग्रामीणों का कहना है कि मृतक की पत्नी डिंडोरी में किसी प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने गयी हुई थी |मृतक मंगलू  सारस्ताल गाँव वाले घर पर अकेला था | गाँव के सभी हेंडपंप और कुएं सुख गए हैं | सिर्फ यही एक कुआं ऐसा था जिसमें बामुश्किल थोड़ा सा पानी झिरता रहता है | मंगलू यही पहुंचा था पानी लेने ...लेकिन पैर फैसला और कुएं में गिरकर उसकी दर्दनाक मौत हो गयी |
 पुलिस ने सूचना के आधार पर कारवाई करते हुये शव को बाहर निकाल पोस्टमार्ट्म के लिए भेज दिया है |
ग्रामीण इस घटना के बाद काफी नाराज़ हैं | ग्रामीणों का आरोप है कि प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन जलसंकट की स्थिति से निपटने के दावे तो बहुत करता है लेकिन परिणाम ...सिफर से ज्यादा कुछ नहीं | यदि आप ग्रामीण इलाको में जाएँ तो बूंद बूंद पानी के लिए रहवासी घंटो मशक्कत करते दिख जाएँगे  | 
वाकई शर्मनाक है ...एक ओर तो हम विकास के दावों की ढोलक पीटे जा रहें है और दूसरी ओर ...उफ़्फ़ असल भारत में ग्रामीणों को पीने का पानी तक मयस्सर नही 

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED