क्यों तोड़ा एसपी ने हेलमेट...?

यहाँ पढ़ें...

मध्यप्रदेश : जबलपुर जिले के एसपी ने अपने कार्यालय में हेलमेट थोड़ा| वहां आये लोग हो गए अचंभित| आपको बता दे जिले में एक्सीडेंट से होनी वाली दुर्घटनाओं का ग्राफ दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है जिसको लेकर शहर की पुलिस और यातायात विभाग की पुलिस लगातार होनी वाली रोड दुर्घटनाओं के प्रति सड़क सुरक्षा जैसे अभियान चला रही है| वही इसी संबध में आज नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के संयोजक मनीष शर्मा और मंच के सदस्यों ने एसपी अमित सिंह को शहर में चालको के लिए हेलमेट को अनिवार्य किये जाने के लिए ज्ञापन देते हुए कहा कि हेलमेट को सहर में अनिवार्य किया जाए| जिससे रोड दुर्घटनाओ में होने वाली मौतों पर कमी आ सके | जिसको लेकर एसपी अमित सिंह ने जब वहां ज्ञापन देने पहुंचे तो सदस्यो से पूछा कि सभी बाइक से याह आये हुए है किन किन लोगों ने हेलमेट लगाया है। जिसपर मंच के किसी भी सदस्य के पास हेलमेट न होने की बात सामने आई। वहीं एक सदस्य ने हेलमेट पहनने की बात एसपी अमित सिंह से कही गयी । जिस पर अमित सिंह ने उक्त सदस्य से हेलमेट मांगा ओर उसे चेक करने के अंदाज में जमीन पर पटक दिया। हेलमेट जमीन से टकराने के बाद दो टुकड़े हो गया| वही हेलमेट के दो टुकड़े हो जाने पर एसपी अमित सिंह ने कहा कि जो हेलमेट स्वयं सुरक्षित नही है वो किसी इंसान को सुरक्षित कैसे रखेगा क्योंकि बिना isi वाला हेलमेट किसी भी प्रकार से इंसान की सुरक्षा नही कर सकता। साथ ही इस लोकल हेलमेट को पुलिस के चालान से बचने के लिए लोग लगा कर पुलिस को धोखा तो दे देते है। लेकिन अपने जीवन के साथ खिलवाड़ करते है। साथ ही एसपी अमित सिंह ने कहा कि रोड एक्सीडेंट का ग्राफ अगर कम करना हो तो उसकी शुरूवात सबसे पहले घर से होनी चाहिए। क्योंकि अभिवावक अपने बच्चो को महंगी गाड़िया तो दिला देते है। लेकिन हेलमेट के प्रति जागरूक नही करते,,वही यातायात के नियमो की जानकारी भी नही दे पाते,,,जिसके लिए जरूरी है कि अभववको को अपने बच्चो को गाड़ी देते समय यातायात के सभी नियम बताना चाहिए,,,साथ ही हेलमेट को अनिवार्यता से पहनने की समझाइस देनी चाहिये,,, निश्चित ही ऐसा करने से सड़क में होने वाली दुर्घटनाओ में कमी आयगी|

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED