एक "गुरु" का मानसिक दिवालियापन

यहाँ पढ़ें...

<

गुरु..जिसे समाज़ में गोविंद से भी उपर का दर्जा दिया जाता है लेकिन उफ़्फ़..एक कलयुगी गुरु ऐसा भी है जिसके बोल सुनकर आपको शर्म के साथ गुस्सा भी आएगा । 
सबसे पहले सुनाते है...इस गुरु के अमर्यादित बोल...

जी हां...ठीक सुना आपने...ये शख्स है ..मप्र के दतिया स्थित सेवड़ा के गोविंद कालेज का प्रिंसिपल डॉ. एस.एस.गौतम । जिसका काम यूं तो विद्यार्थियों को शिक्षा देने के साथ संस्कृति एवम सामाजिक मूल्यों का ज्ञान कराना है लेकिन ये शखस तो गुरु कहने लायक भी नही । ये तो विद्या की देवी को ही अपशब्द कहने से बाज नही आया । दिमाग से पंगु गौतम.. कॉलेज प्रांगण में स्थापित माँ सरस्वती की प्रतिमा को वैश्या बता रहा है ।
एक बार फिर से सुनिये इस बेशर्म प्राचार्य को

जब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो जिसने सुना सन्न रह गया । आक्रोश होना भी लाज़मी है । विवादित टिप्पणी करने वाले इस प्राचार्य केखिलाफ कुलदीप यादव नाम के एक युवक ने मामला दर्ज कराया है । पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए इस प्रिंसिपल के खिलाफ धारा 153 A के तहत कार्रवाई की है ।

कानूनी कार्रवाई तो ठीक लेकिन आवश्यक है कि इस शख्स का गुरु का दर्जा ही छीन लिया जाए ताकि  आने वाली नस्लों की रगों में अपने दिमाग का दिवालियापन न भर सके

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED