मंत्री का रोड शो किराये की भीड़, फिर पैसे भी गटके

यहाँ पढ़ें...

<दिल्ली में अपना झण्डा गाड़ने के लिए सभी  सियासी दल सिर के बल खड़ें हैं | मतदाताओं को रिझाने के लिए तरह तरह के पैंतरों की ज़ोर आज़माईश जारी है |  
अब सोचिए ऐसे में यदि मंत्री जी सड़कों पर नमूदार हो रहें हो और आसपास भीड़ जमा न हो ...तो मंत्री जी की आन बान और शान पर बट्टा लगना तो तय है  
|और इधर  तेज़ तपिश और नेताओं से निराश हो चले आम लोगों का इस तरह के कार्यकमों में टोटा होने लगा है | 
कुछ ऐसा ही मसला फंसा  सीहोर जिले के आष्टा क्षेत्र में | जहां कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में मंत्री जी रोड शो करने वाले थे | कार्यक्रम  को सफल करने की ज़िम्मेदारी स्थानीय नेताओं के हवाले थी  |   ...| तो शुरू हो गई उठा पटक | आनन फानन में तीन तीन सौ रुपए देने का वादा कर किराये की भीड़ जमा करने  की व्यवस्था कर दी गई | एक बार फिर धन के लालच में आकर लोग मंत्री जी की जयजय कार करने लगे | 
नेता जी आए ...रोड शो किया  ...अपनी झांकी जमाई और चलते बने | यहाँ पैसे के इंतज़ार कर रहे लोगों को पूछा तक न गया | थोड़े इंतज़ार के बाद लोगों को लगने लगा कि भैया  ....उनके साथ तो धोखा हो गया है | फिर क्या था  ....भीड़ पैसे का तकादा करते हुये कांग्रेस्स नेताओं की ओर लपक ली | कोई नेता यहाँ खिसका तो किसी ने अपने आपको आड़ के हवाले कर दिया | 
नाराज़ लोग आयोजकों को तेज़ गर्मी में तलाशते रहे लेकिन नेता तो मानो मिस्टर इंडिया हो गए | 
हद है ...सत्ता में आने के बाद तो नेता आम जन को छ्लते ही हैं लेकिन उफ़्फ़ ...यहाँ तो अपने प्रचार के लिए भी झूठ का सहारा लेने से न चूके | 
 ... इधर चुनाव आयोग निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव सम्पन्न कराने को लेकर दावे पर दावे ठोंक रहा है लेकिन एसी दफ्तर वाले साहब भी ज़रा देख लें .....कि ये सियासी दल आपके निर्देशों की पोटली बनाकर ...कैसे ताक पर पटक देते हैं

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED