उफ्फ, सकारात्मक ऊर्जा का महत्व

उफ्फ, सकारात्मक ऊर्जा का महत्व

उफ़्फ़ ये धर्म : सदा ऊर्जावान रहे आपका घर - नकारात्मक ऊर्जा हमारे जीवन को बहुत हद तक प्रभावित करती है। हमेशा ऐसी व्यवस्था रखें कि आपके घर और बाहर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता रहे। कहने को तो सभी कहते हैं कि हमें अपने वातावरण को साफ एवं सवच्छ रखना चाहिए, गंदगी नहीं फैलानी चाहिए ताकि सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे। लेकिन ऐसा बहुत कम लोग करते हैं। शायद इसलिए क्योंकि वे सकारात्मक ऊर्जा का महत्व नहीं समझते। इसके लिए क्या करें क्या न करें ये समझना जरूरी है। तो आइये जानते हैं कि हमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए।

- कोशिश करें कि घर के खिड़की दरवाज़े खुले रह सकें। घर और सामान आदि की सजावट की वजह से दरवाज़े खिड़कियों को बंद न रखना पड़े।

- रसोईघर की अपनी ऊर्जा होती है। यहां ढेर सारा सामान प्लेटफार्म पर नहीं रखना चाहिए और डिब्बों को साफ और व्यवस्थित रूप से रखना चाहिए।

- घर में कोई भी टूटा-फूटा या ज़ंग लगा सामान नहीं रखना चाहिए। फ़टे-पुराने या रंग उड़े कपड़ों को भी घर से बाहर कर देना चाहिए।

- घर मे हवा के प्रवाह की भी पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। हवा बाधित नहीं होनी चाहिए, और घर में चलना -फिरना भी सहजता से हो। इस तरह की व्यवस्था घर में होनी चाहिए।

- सामान बिखरा हुआ नहीं होना चाहिए। सारी वस्तुएं अपने स्थान पर होनी चाहिए। किसी भी तरह की अस्त-व्यस्तता से सकारात्मक ऊर्जा बाधित हो कर नकारात्मक ऐसे पैदा करती है।

- घर की किसी भी सतह पर धूल नहीं जमने देना चाहिए, अलमारी के खाने हों या किसी टेबल की सतह, स्टूल हो या टीवी का रैक, किसी भी सतह पर धूल नहीँ होनी चाहिए।

- केवल बैठक ही नहीं जहां मेहमानों  का आना जाना होता है बल्कि पूरे घर को साफ और व्यवस्थित रखना चाहिए।

- प्रार्थना के स्वरों को अपने घर में स्थान दें। घर में घंटियाँ लगाएं।

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED