रिश्तों को प्रभावित करता है बार-बार सॉरी बोलना

रिश्तों को प्रभावित करता है बार-बार सॉरी बोलना

बार-बार हर बात पर सॉरी बोलना आपके रिश्ते को खराब कर सकता है और बात बात पर सॉरी कहना न सिर्फ सामने वाले में झुंझलाहट पैदा करता है, बल्कि इससे आपके आत्मविश्वास भी कमी आती है। हम आपको बता रहे हैं की बार बार सॉरी बोलना कितना नुकसानदेय हो सकता है किसी भी रिलेशनशिप के लिए। जीवन में बहुत ज्यादा सख्ती झेल चुके लोगों को लगता है कि सामने वाला उनकी किसी बात पर कैसी प्रतिक्रिया देगा। इसीलिए वो बार बार सॉरी कहते रहते हैं। ये बार-बार सुनना अनौपचारिक रिश्ते को कमजोर बनाता है। कई बार सॉरी बोलने के बाद लोग सोच को भी बदल लेते है इससे हमारी जिंदगी के कई फैसले प्रभावित होते हैं और सॉरी बोलने वाला कमजोर होता चला जाता है। हमारा किसी के साथ गहरा रिश्ता है तो छोटी-मोटी गलतियां सबके लिए स्वाभाविक होती हैं। ऐसे में हर छोटी बात पर माफी मांगना रिश्ते की गहराई पर सवाल खड़े कर देता है। ये भी देखने की जरूरत है कि क्या आपका छोटी बात पर सॉरी कहना सामने वाले को संतुष्ट तो नहीं कर रहा। हर बात पर माफी मांगना आपको खुद को नुकसान पहुंचाता है। आप सॉरी बोलते हैं और अपने फैसले भी दूसरों के अनुसार लेते हैं। बाद में किसी मोड़ पर ऐसे हालात हो जाते हैं कि आप न चाहते हुए भी दूसरों की मर्जी के अनुसार फैसले करने लगते हैं। हर बात पर माफी रिश्तों को आसानी से खत्म कर देती है। अगर साथी आपको समझता है तो सामान्य बातों पर आपसे माफी मांगने की उम्मीद वो कतई नहीं करता होगा। न ही आपको वह ऐसा करने देगा, बल्कि ऐसा करने पर वह आपको टोकेगा। छोटी बातों पर सॉरी कहने से कई बार जो आपको नहीं जानते होते हैं, वे आपकी नकारात्मक छवि बना लेते हैं और फिर उस छवि से निकलने में ही आप संघर्ष करते रह जाते हैं।

 

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED