मोदी सरकार फिर से सोशल मीडिया के सहारे

मोदी सरकार फिर से सोशल मीडिया के सहारे

मध्यप्रदेश : मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद बीजेपी ने लोकसभा के लिए जमीनि स्तर पर तैयारी शुरु कर दी है। वहीं बात की जाए बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया का बेहतरीन और आधुनिक तरीके से उपयोग किया था और उसी को दोहराते हुए पार्टी इस बार फिर उसी तरह तैयारी कर रही है।  इसके लिए बीजेपी ने लोकसभा से लेकर बूथ तक 76 हजार से ज्यादा साइबर योद्धा तैनात किए हैं, जो बीजेपी की उपलब्धियों के प्रचार प्रसार के साथ कांग्रेस के हर हमले का सोशल जवाब देने के लिए तत पर बैठे हैं। साथ ही लोकसभा में 65 प्रतिशत से ज्यादा वोट शेयर करने वाले युवा वोटरों तक पहुंच बना रहे हैं।


सोशल मीडिया के मैदान पर बीजेपी के योद्धा-

 -हर लोकसभा(29) मे - 20 साइबर यौद्धा - कुल-580
- हर विधानसभा(230) में - 10 साइबर यौद्धा - कुल- 2300

 

 लोकसभा लेवल से लेकर बूथ लेवल तक बीजेपी के सोशल योद्धा तैयार है मंडल (835) में - 10 साइबर योद्धा- कुल-8350


- 65367 के करीब पोलिंग बूथ हैं और हर बूथ पर एक साइबर योद्धा तैयार है।
- यानी लोकसभा से बूथ स्तर तक बीजेपी के 76597 साइबर यौद्धा सक्रिय हैं।


वहीं कांग्रेस ने भी बीजेपी के सोशल वार का जवाब देने के लिए खास प्लान बनाया है। इसके लिए प्रवक्ताओं को खास ट्रेनिंग दी जा रही है, ताकि बीजेपी के सोशल हमलों का जवाब दिया जा सके।


एमपी में सोशल मीडिया यूजर्स -


- एमपी में फेसबुक 1.25 करोड़ यूजर्स हैं।
- ट्वीटर पर 5 लाख, तो वॉट्सएप्प पर करीब 3 करोड़ वॉट्सएप्प यूटर्स हैं।


लोकसभा चुनाव 2014 और 2018 के मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद अब 2019 का आमचुनाव सोशल मीडिया के मैदान पर ल़ड़ा जाना तय है। देखना होगा कांग्रेस से सोशल मीडिया मैनेजमेंट के मामले में एक कदम आगे रहना बीजेपी को इसका फायदा 2019 के महाभारत में मिलता है या नहीं।

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED