दर्शन के नाम पर श्रध्दालुओं से ली रिश्वत

दर्शन के नाम पर श्रध्दालुओं से ली रिश्वत

उज्जैन (मप्र) : विश्व प्रसिद्ध महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं से दो हजार रूपए की वसूली की गई। मंदिर में तैनात  सुरक्षा गार्ड द्वारा रिश्वत वसूली की पहले भी कई बार शिकायत की गई है। लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद इस पर लगाम नहीं लग पा रही है। हाल ही में उत्तरप्रदेश से आए श्रद्धालुओं से भस्मार्ती दर्शन के नाम पर दो हजार रूपए की वसूली की गई। महाकाल मंदिर में सुरक्षाकर्मियों  द्वारा वसूली के मामले पहले भी कई बार आ चुके है। लेकिन ठोस कार्रवाई के अभाव में इन पर अब तक रोक नहीं लग सकी है। शनिवार को भस्मार्ती दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालुओं से भी यहां तैनात गार्ड द्वारा दो हजार रूपए की वसूली की गई। गार्ड ने उत्तरप्रदेश से आए बीपी सिंह ओर कुलदीप सिंह से भस्मार्ती दर्शन के लिए दो हजार रूपए लिए और इसके बाद कम्प्यूटर कक्ष से भस्मार्ती दर्शन करवाकर मंदिर के बाहर छोड़ दिया।  आपको बता दें की सुरक्षागार्ड दोनों श्रद्धालुओं को जिस कम्प्यूटर कक्ष से लेकर गए थे वहां भस्मार्ती परमिशन, प्रोटोकॉल से संबंधित अधिकारी-कर्मचारी बैठते है। जिनको आंखो का ईशारा कर गार्ड श्रद्धालुओं को भस्मार्ती के लिए ले गए। लौटते वक्त भस्मार्ती प्रभारी अनुराग ने जब दोनों श्रद्धालुओं से परमिशन मांगी तो पूरा मामला सामने आया। मामले की शिकायत महाकाल थाने में की गई है। लेकिन फिलहाल पुलिस सहित प्रशासनिक अधिकारियों ने मामले चुप्पी साध रखी है। 

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED