विदेशी चाइल्ड पोर्नोग्राफी का हुआ पर्दाफाश

विदेशी चाइल्ड पोर्नोग्राफी का हुआ पर्दाफाश

मध्यप्रदेश : भोपाल क्राइम ब्रांच को बड़ी सफलता हाथ लगी है। बताया जा रहा है भोपाल क्राइम ब्रांच पुलिस ने इंटरनेशनल चाइल्ड पॉर्नोग्राफी गिरोह के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया संजय पाल नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। यह गिरोह वाट्सएप ग्रुप के ज़रिए यह चाइल्ड पॉर्नोग्राफी रैकट चलाते थे। साथ ही यह ग्रुप बांग्लादेश से ऑपरेट किया जा रहा है। इस आरोपी के मोबाईल में बड़ी तादात में नाबालिग बच्चो के अश्लील वीडियो और तस्वीरे मिली है। 

क्रेजी किड्स नाम के इस ग्रुप का एडमिन बांग्लादेश का व्यक्ति है। सभी इंटरनेट पर मिली लिंक के जरिए इस ग्रुप में जुड़े हैं। साथ ही पुलिस व्दारा पुछताछ करने आरोपी ने बताया वह भी इस ग्रुप में लिंक के जरिये जुड़ा था। पुलिस के गिरफ्तार करने के बाद आरोपी का मोबाइल चेक करने पर पता चला क्रेज़ी किड्स नाम के इस ग्रुप में लगभग 257 नम्बर लिंक के जरिये जुड़े है। वहीं इस ग्रुप में 144 नंबर इंटनेशनल हैं, जबकि 113 भारतीय लोगों के नम्बर है। यह कार्यवाई क्राइम ब्रांच ने करते हुए आरोपी के मोबाईल को फारेंसिक जाँच के लिए भेज दिया है। 

विदेशी मार्केट में चाइल्ड पोनोग्राफी की बड़ी डिमांड है। पुलिस यह मानकर चल रही है की इंद्रपुरी भोपाल निवासी आरोपी संजय पाल नाबालिग बच्चो के अश्लील वीडियो बनाकर इंटरनेशनल बाजार में बेचता था और किसी बड़े पोनोग्राफी ग्रुप से इसके तार जुड़े है। वहीं आरोपी संजय के मोबाइल पर चार दिन पहले एक मेसेज आया था। जिसमे लिखा था की cp भेजो।  cp का मतलब है की चाइल्ड पोनोग्राफी भेजो।

पुलिस ने आरोपी के ख़िलाफ आईटी एक्ट की धारा 67बी के तहत केस दर्ज किया है। राजधानी का ये पहला मामला है जब चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर लगाम लगाने की नियत से क्राइम ब्रांच ने कार्रवाई की है।

मामला इंटरनेशनल होने की वजह से आरोपी संजय के खिलाफ हुई कार्रवाई की जानकारी केंद्रीय गृहमंत्रालय को भेजी गई है...साथ ही चाइल्ड पॉर्नोग्राफी पर नकेल कसने के लिए भोपाल पुलिस इस तरह के वाट्सएप ग्रुप्स पर लगातार नजर रखी जा रही है। हलाकि पुलिस हर पहलु पर बारीकी से जाँच कर रही है। आपको बता दे की चाइल्ड पोनोग्राफी भारत में एक गैरजमानती अपराध है।

 

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED