क्षिप्रा के जल से धोया परिसर

क्षिप्रा के जल से धोया परिसर

उज्जैन (मप्र) : पूर्व कुलपति पांडे के इस्तीफा देने के दूसरे दिन भी यूनिवर्सिटी में राजनीतिक ड्रामा चलता रहा। पूर्व कुलपति की कार्यशैली से नाराज एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने परिसर को क्षिप्रा के जल से धोया। इसके साथ ही पूर्व कुलपति के बंगले पर लगी प्रो पांडे की नेम प्लेट पर कालिख पोतकर अपनी नाराजगी व्यक्त की। दो दिन पहले पूर्व कुलपति प्रो एसएस पांडे के इस्तीफा देकर दिल्ली रवाना होने के बाद से ही विक्रम विश्विद्यालय में राजनीति गर्मा गयी है। पूर्व कुलपति के अचानक इस्तीफा देने के बाद शाषन ने सिंधिया प्राच्य शोध संस्थान के निदेशक डॉ बालकृष्ण शर्मा को नियुक्त किया है। उनकी पद भार ग्रहण समारोह के दौरान यूनिवर्सिटी में राजनीतिक ड्रामा चला। इस दौरान एनएसयूआई कार्यकर्ताओ ने परिसर को क्षिप्रा के जल से शुद्ध किया। इसके बाद पूर्व कुलपति के बंगले पर लगी उनकी नेम प्लेट पर कालिख भी पोती।  वहीं  नैनेश्वर के कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी कर  कुलपति के जाने की खुशियां मनाई  दरअसल  जबसे पांडे  कुलपति बने हैं  तब से उनका बीजेपी कांग्रेस और  विक्रम विश्वविद्यालय के  कर्मचारी संगठनों से  पटरी नहीं बैठ पाई थी और यही वजह रही  कि जब उनके हटाए जाने की खबर आई तो सभी ने खुशियां मनाई ओर पूर्व कुलपति के खिलाफ नारेबाजी की। ततपश्चात नव नियुक्त कुलपति को पदभार ग्रहण करवाया। 

Comment



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED