अभिनेता नसीर मियां ने तालिबान समर्थकों को तो उफ्फ़..फोड़ डाला


अफगानिस्तान पर तालिबान ने अपनी आतंकी ताकत से हुकूमत कायम कर ली है । बीस साल बाद लौटे तालिबान का वही क्रूर रुप फिर से सामने है । ढेर अफगानी अपना वतन छोड़कर परदेस का रुख कर चुके हैं । महिलाओं की तो मानो जान पर बन आई है । ऐसे में भी भारत में रहने वाले कुछ लोगों के बोल आतंकियों के समर्थन में फूटे हैं । लेकिन ऐसे लोगों को आइना दिखाया है,मशहूर अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने । अपने बयानों को लेकर अक्सर विवादों में रहने वाले नसीर के इस संदेश की जमकर तारीफ हो रही है । 

आखिर क्या कहा,नसीरुद्दीन शाह ने 

 शाह ने अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी का जश्न मना रहे भारतीय मुसलमानों के एक वर्ग की जमकर आलोचना की है । नसीर कहा है कि अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय है, लेकिन भारतीय मुसलमानों के कुछ वर्गों द्वारा बर्बर लोगों का जश्न कम खतरनाक नहीं है । नसीर यहीं नही थमे,बल्कि तीखे शब्दों का उपयोग करते हुए कहा कि जो लोग तालिबान के वापसी की खुशी मना रहे हैं, उन्हें खुद से सवाल करना चाहिए कि क्या वे अपने धर्म में सुधार करना चाहते हैं या पुरानी बर्बरता के साथ रहना चाहते हैं ।

71 साल के इस दिग्गज अभिनेता का यह वीडियो सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वॉयरल हो रहा है ।

ज़ाहिर है नसीरुद्दीन शाह के इस बयान के चलते पहले से नाराज एक पक्ष को थोड़ा सुकूँ मिला होगा लेकिन उफ्फ़..दूसरे पक्ष के लिए किसी तीख़ी मिर्ची से कम न होगा ।