अपना और अपनों के अलावा मनेगा, गांव का जन्मदिन ! वजह यह रही


जन्मदिन...। आप हम सभी बड़ी ही शिद्दत से इस दिन को मनाते हैं ।

यहां तक कि बहुत सारे लोग जीव जंतुओं का जन्मदिन भी बड़े ही धूमधाम से मनाने में विश्वास रखते हैं।

लेकिन अपने गांव का जन्मदिन?

क्या हुआ आश्चर्य में पड़ गए...गांव का जन्म दिन!

जी साहब अब गांव का जन्मदिन भी मनेगा और वो भी पूरे जोशोखरोश के साथ।

हओ भैया...आपके गांव का,पड़ोस के गांव का,पडोस के पड़ोस वाले गांव का।

हमेशा कुछ नया करने के लिए माने जाने वाले मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपील की है । और वो है..गांव का जन्मदिन मनाने की।

बात सिर्फ औपचारिक जन्मदिन तक सीमित नही है बल्कि इसके पीछे एक बड़ा उद्देश्य जुड़ा है। आपसी सामंजस्य के साथ गांव के विकास एवं सरकारी योजनाओं का लाभ कैसे लिया जाए। यह सब तय करने में बड़ी मदद होगी।

खुद मुख्यमंत्री ने इस ओर पहल की है। गृह ग्राम जैत का जन्मदिन नर्मदा जयंती को मनाया जाएगा।

तो चलिए हम भी अपने गांव के लिए एक कदम आगे बढ़ाएं। आपसी तालमेल के साथ जन्मदिन तय करें। और न सिर्फ अपनी जन्मभूमि को बल्कि देश,प्रदेश को भी विकास की नई ऊंचाइयां देने में एक अहम भूमिका अदा करें।

लिंक पर करें क्लिक| और देखें एक शानदार वीडियो