गज़ब कांग्रेसियो..। ऐसी मक्खनबाजी पेल मारी कि शहीदों की आत्मा भी बोल उठी होगी.. उफ्फ़


  झंडा फहराने के बाद  ...भारत माता की जय की नारे और फिर राष्ट्रगान तो सुना होगा  ...लेकिन साहब अब चमचागिरी का नमूना देखिए

सुना आपने  ... अब ठीक है न  ... आज़ादी अपनी जगह,राष्ट्रीय पर्व अपनी....लेकिन उफ्फ,चरण वंदना अव्वल | ठीक झंडावंदन के बाद कांग्रेसियों ने नेता जी के सम्मान में ऐसा  मक्खन पेला कि शहीदों की आत्मा भी बोल उठी होगी  .. उफ्फ |
मौक़ा कुछ भी हो दस्तूर न चूके | वैसे भी देश भक्ति तो सिर्फ कागजो और भाषणों तक ठीक है लेकिन असल में नेता जी को साधना ज़रूरी | वरना देश के नाम पर ताली बजा लो  असल मामला तो नेता जी की जी हुजूरी से सेट होता है |
मक्खन चुपड़ा गया छिंदवाड़ा में |  ध्वजारोहण के ठीक बाद कमलनाथ जिंदाबाद के नारे लगे और फिर भारत माता के नारो के साथ  हुआ राष्ट्रगान संपन्न हुआ |
धन्य हो  ... खैर है भी ठीक ...काहे का दिखावा  ..जो करो बिंदास करो | वैसे भी यही सत्य है और सच को लेकर कैसा संकोच