BJP के नेता की जेब मे ब्राम्हण-बनिया


रेमंड,बॉम्बे डाइंग,एलन शोली जैसे ढेरों ब्रांड हैं लेकिन उफ्फ़, जो कपड़ा बीजेपी के नेता जी पहनते हैं...। उसका मुकाबला नही?
क्या कपड़ा है साहब...छोटे मोटे समान तो छोड़िए अपनी जेबों में भारी भरकम ब्राह्मण बनिया वोट बैंक को भी फंसा लेता है । और मजाल है कि जेब फट जाए या फिर भारी पड़ जाए।
 हां, यह ज़रूर है कि ब्राह्मण,बनिया उस जेब मे फंसे फंसे भड़भड़ाते रह जाते होंगे लेकिन कपड़ा के चंगुल से ...मजाल है कि बाहर भटक पाएं।
न माने तो उपर लटके वीडियो में सुनिए नेता जी के बोल वचन..।
जी,सही.. भाजपा के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ही हैं। जुबान ने ऐसी करवट ली कि बयान गले पड़ गया। बिल्कुल वैसे ही जैसे शिव बाबू ने कभी "माई के लाल" वाले शब्द उगले थे। याद ही होगा... नतीजा भारी पड़ा था।
खैर...भाजपा आदिवासी वोट को साधने के लिए एक बड़ा कार्यक्रम करने जा रही है,जो कि भोपाल में होगा। बिरसा मुंडा की जयंती पर आयोजित इस कार्यक्रम को जनजातीय गौरव दिवस का नाम दिया गया है। मोदी बाबू भी आकर अपने झंडे गाड़ने वाले हैं।
  आदिवासियों को लपेटने की तैयारियां जोरों से हैं लेकिन अतिउत्साह ने एक बड़े वर्ग को हिला दिया।
मौका मिला तो विपक्ष ने लपक लिया।
अब भले ही बीजेपी, नेता जी के बयान को लेकर लाख सफाई दे लेकिन शब्द थे, जो  सियासत के गलियारों में आवारा हो गए।
ज़ाहिर है.. मामला आसानी से ठंडा नही होने वाला। अब वही बात हो गयी साहब...गए थे नमाज पढ़ने.. उफ्फ़..रोजे गले पड़ गए!