हुजूर ... हबीबगंज नहीं बल्कि रानी कमलापति बोलिए!


देश में शहर,स्थानों का नाम बदलना जारी है| अब जिस स्थान का नाम बदलेगा,वो झीलों की शहर से जुडा है| वही जगह जो विश्व स्तर की तैयार की गयी है,जिसका उद्घाटन पीएम बाबू करने वाले हैं| 

समझ गए होंगे और यदि नहीं तो उस जगह का  नाम है,हबीबगंज स्टेशन|

मध्यप्रदेश सरकार ने नए नाम का प्रस्ताव गृहमंत्रालय को भेज दिया है| नाम पर हामी की मुहर केंद्रीय गृहमंत्रालय ही चस्पा करता है| 

उठती मांग को ध्यान में रखते हुए हबीबगंज स्टेशन का नया नाम रानी कमलापति रेल्वे स्टेशन प्रस्तावित है| 

यह  रहा पत्र 

पढ़ लिया न ​​​​​​| अब इस प्रस्ताव को लेकर कई लोगों के दिलों पर सांप लौट गए होंगे तो कई उत्साहित होकर हवा में होंगे| कोई शक नही है कि,विवाद की आंधी अपना रंग दिखाएगी| लेकिन सरकार सोच चुकी है तो नाम बदलना तय ही समझिए  | 

वैसे यह वही स्टेशन है,जो करोडो की लागत से तैयार हुआ है| दावा है कि इस हर वो सुविधा उपलब्ध होगी,जो एयरपोर्ट पर होती हैं|  सुविधा तो ठीक है लेकिन महंगाई के आलम में प्लेटफॉर्म टिकिट से लेकर पार्किंग तक, सभी के लिए जेब फाड़ भुगतान करना पड़ेगा| बोले तो सफर आसान कितना होता है भगवान जाने लेकिन महंगा साबित ज़रुर होगा| 

खैर वो आप बाद में समझ लीजिएगा | फ़िलहाल तो नए नाम बोलने की आदत डालना शुरू कीजिए |