यदि जानना चाहतें हैं,कैसा होगा तालिबान शासन ? तो पढ़िए यह


 

अफगानिस्तान पर काबू करने के बाद तालिबान ने दिशा और मंशा को साफ़ कर दिया है | तालिबान की तरफ से आए बयान से तो यह अहसास होता है कि इस बार बदला चेहरा होगा लेकिन यह भी बहुत सम्भव है कि बढ़ते दबाव के चलते यह बातें महज़ कहने के लिए ही ही हो | 

काबुल फतह के बाद तालिबान पहली बार मीडिया के सामने आया है | तालिबान प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुज़ाहिद ने ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि आखिरकार 20 साल के संघर्ष के बाद हमने देश को आज़ाद कर ही लिया है | सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि और विदेशियों को देश से बाहर का रास्ता दिखाने में भी सफल रहें हैं |  
 
यह गौरव के क्षण 
 
तालिबानी प्रवक्ता ने कहा कि यह हमारे लिए गौरव के क्षण है | उठते सवालों को लेकर प्रवक्ता का कहना है कि हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय को आश्वस्त करना चाहते हैं कि किसी को नुक़सान नहीं होने देंगे | साथ ही महिलाओं के हक़ का भी पूरा ध्यान दिया जाएगा | 
 
तालिबान के प्रवक्ता ने स्पष्ट किया कि हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किसी तरह का कोई विवाद नहीं चाहते | हमें हमारी धार्मिक मान्यताओं के अनुसार काम करने का अधिकार है | अन्य देशों  के अलग-अलग नज़रिया, नियम और कानून हैं | हमारे मूल्यों के अनुसार, अफ़ग़ानों को अपने नियम और कानून तय करने का अधिकार है."
 
मुज़ाहिद ने साफ़ किया कि,हम शरिया व्यवस्था के तहत महिलाओं के हक़ तय करने को संकल्पवद्ध हैं |  महिलाएं हमारे साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करने जा रही हैं. हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि उनके साथ कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा | 
 
 हम नहीं चाहते विवादों से नाता 
 
तालिबान के अनुसार  हम यह सुनिश्चित करेंगे कि अफ़ग़ानिस्तान अब संघर्ष में उलझे | हमने उन सभी को माफ़ कर दिया है, जिन्होंने हमारे ख़िलाफ़ लड़ाइयां लड़ी | अब हमारी दुश्मनी ख़त्म हो गई है | 
 
उन्होंने कहा, "हमारी योजना काबुल के बाहर ही  रुकने की थी, व्यवस्थाएं सुचारू रूप से संपन्न हो जाए. लेकिन दुर्भाग्य से, पिछली सरकार बहुत अक्षम थी. उनके सुरक्षा बल सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ ख़ास न कर सके |  ऐसे में हमें ही यह सब करने के लिए मज़बूर होना पड़ा | 
 
मुजाहिद ने कहा | हम मज़बूर थे, काबुल के लोगों की सुरक्षा तय करने के लिए हमें काबुल में दाखिल होना पड़ा | 
 
तालिबान की तरफ से किस तरह के कदम उठेंगे | मीडिया की भी दी चेतावनी 
 
तालिबान के प्रेस कॉन्फ़्रेंस में इसके प्रवक्ता जबीहुल्ला मुज़ाहिद ने कहा हम अपने सांस्कृतिक ढांचे के भीतर  मीडिया के प्रति संकल्पवद्ध हैं | 
 
मीडिया बेशक हमारी कमियों पर ध्यान दे, ताकि हम राष्ट्र की अच्छे से सेवा कर सकें | लेकिन मीडिया को भी ये ध्यान में रखना चाहिए कि इस्लामी मूल्यों के ख़िलाफ़ कोई काम नहीं होना चाहिए | 
 
महिलाएं शरीयत के अनुसार काम करें | 
 
तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुज़ाहिद ने महिला अधिकारों के बारे में एक सवाल के जवाब में कहा,हम महिलाओं को अपनी व्यवस्था के भीतर काम करने और पढ़ने की अनुमति देने जा रहे हैं | 
 
जल्द बनेगी तालिबानी सरकार 
 
तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने बताया है, सरकार बनने के बाद ही तय होगा कि कौन कौन से नियम लागू होंगे |  हम सरकार बनाने पर गंभीरता से काम कर रहे हैं और इसको लेकर जल्द ही घोषणा की जायेगी |