काटा नो पार्किंग का चालान | उफ्फ ... ज़िंदगी की डोर भी कट गई


ख़ता सिर्फ इतनी कि नो पॉर्किंग में खड़ी गाडी का चालान काट दिया | कार मालिक को गुस्सा ऐसा चढ़ा कि उसने चालान काटने वाले पुलिस ऑफिसर की साँसों की डोर ही काट डाली | घायल अधिकारी ने चंद दिन अस्पताल में जिंदगी से संघर्ष किया लेकिन मौत जीत गई | घटना दुःखद है और डराने वाली भी | फर्ज निभाने की ऐसी सजा  ...उफ्फ | 

 
घटना  मध्यप्रदेश  की राजधानी भोपाल  की है | बीते दिनों हुई घटना में भोपाल के एमपी नगर  में पार्किंग को लेकर एक इंजीनियर छात्र ने यातायात एसआई को छुरी मार दी | जिसके बाद एसआई राम दुबे को निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। वहीं उपचार के दौरान एसआई श्री राम दुबे ने आज दम तोड़ दिया ।
 
 
दरअसल, भोपाल के एमपी नगर में नो पार्किंग में खड़ी बाइक को क्रेन से उठा ले जाने के बाद चालान काटने के बीच हुए विवाद के बाद इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर चुके एक छात्र ने ट्रैफिक पुलिस के सब इंस्पेक्टर दुबे पर हमला कर दिया । विवाद के चलते युवक इतना अधिक गुस्से में था कि चालान की रकम भरने के बाद 15 मिनट तक मौके का इंतजार करता रहा और उसने इस खतरनाक वारदात को अंजाम दे डाला। मामले में एसआई  दुबे ने 600 रुपए का चालान भरने के बाद ही गाड़ी छोड़ने की बात कही। हर्ष के पास पैसे नहीं थे। ऐसे में वह घर से पैसे लेने चला गया। घर से पैसे लेकर वापस आया फिर उसने चालान कटवाया। इसके बाद वह वहीं खड़ा रहा। इसी बीच दुबे फोन पर बात करने लगे। तभी हर्ष ने जेब से चाकू निकाला और उनके पेट में घोंप दिया। शोर सुनकर मौके पर मौजूद क्रेन के हेल्पर और आम जनों ने आरोपी हर्ष को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया था।