ममता बनर्जी की हरकत ! सुनकर आपको भी आ जाएगा...गुस्सा


देश का सम्मान भाड़ में जाए ... बस सियासत चमकती रहे!

व्यस्तता और लापरवाही ऐसी सिर चढ़ी कि उफ्फ़..राष्ट्र गान का मज़ाक बना डाला।
 मेंडम, चंद सेकेंड भी देश के सम्मान के लिए नही दे पाई और गान आधा गाकर इतिश्री कर ली।

देश की सियासत में खम ठोकने का सपना पालने वाली ममता बनर्जी है। देखिए कैसे देश के सम्मान को ताक पर रख दिया।

 


गान के रचयिता गुरुदेव रवींद्र नाथ टैगोर भी बंगाल से आते हैं । लेकिन सत्ता की खुमारी में ममता न सिर्फ देश बल्कि उनके ही प्रदेश की शान को भी अपमानित कर गई।
मौका मिला तो बंगाल भाजपा ने मुद्दा लपक लिया है तो टीएमसी का पक्ष अब तक मौन है।
व्यस्तता और सियासत अपनी जगह लेकिन यदि नेता,  राष्ट्रीय गान का सम्मान भी न कर सकें तो उफ्फ़..उनकी नीयत साफ हो जाती है