नक्सली ऐसा भी कर सेकते हैं ! जानकर आप भी एक बार ज़रूर चौंक जाएंगे


छत्तीसगढ़ ! वो राज्य जहां से अक्सर आपने नक्सलवादी ख़बरों को सुना होगा।  कभी इनके द्वारा लूटपाट करने की घटना तो कभी दहशतगर्दी को अंजाम देना । लोगों को मौत के घाट उतार देना भी आम है । खासकर पुलिस या सुरक्षा बलों के जवानों का जीवन तो मानो इनको चुभता सा है । 
       लेकिन आज ऐसा कुछ हुआ कि वो घटनाक्रम एक अलहदा खबर के तौर पर सुर्खियों में छा गया ।  बंदूक से बाते करने वाले माओवादियों ने अनोखे तरीके से अपनी मांग सरकार के सामने रखी । जिसे जानकर हर कोई हैरान है । 
  दहशत का क्षेत्र माने जाने वाला छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिला के नेशनल हाइवे 130 सी पर  मंगलवार की देर रात नक्सलियों ने बैनर लगाये । इन वैनर्स में माओवादी स्थापना दिवस उत्साहपूर्वक और गर्मजोशी से मनाने अपील की गई है। बीच रोड पर लगे बैनर्स के चलते हाइवे पर दोनों ओर जाम भी लग गया। पुलिस ने इन्हें जब्त कर आवागमन चालू कराया।


    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों द्वारा बैनर लगाने की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचकर बैनर और अन्य सामग्री को जब्त कर लिया गया । स्थानीय पुलिस ने स्पष्ट किया कि हाइवे पर आवागमन चालू हो गया है। बैनर मंगलवार की देर रात में लगाया गया था, जिसे बुधवार की सुबह पुलिस पार्टी ने हटा दिया ।
   चलिए बंदूक से इंसाफ की जंग का दावा करने वालों को शायद अपनी बात कहने का सही तरीका समझ आने लगा है । हालांकि रोड पर बैनर टांग कर मांग को रखना भी अनुचित है फिर भी माओवादी के व्यवहार के लिहाज से यह बहुत हद तक ठीक है ।
 लेकिन सिर्फ यह माओवादी स्थापना दिवस के कारण अपना अंदाज बदला या फिर आम लोगों के दिलों में छवि बदलने के लिए.. यह तो भविष्य की गतिविधियों से साफ होगा लेकिन फिलहाल के लिए तो यह अलग अंदाज चर्चाओं में तो जमकर है ।