शिव-कमलबाबू का खेल। राजाबाबू फुलटॉस फेल


इसे कहतें हैं...चैन की बंसी..अरे नही साहब...चैन की नगड़िया बजाना। और जब एक दिन पहले ही विपक्ष की ढपली बजाई हो तो उफ्फ़....इस नगड़िया पीटने का अलग ही मज़ा।

गुरु मानना तो पड़ेगा शिव बाबू को। ऐसे खिलाड़ी,  जिन्होंने दिग्गी को उनके ही अंदाज में, ऐसी मात दी कि बेचारे राजा बाबू अपनी ही सियासत में ही उलझ कर रह गए।

कमलबाबू के सामने लाइन बड़ी करके अपने आपको बुलंद करने के लिए बेताब दिग्गी के हाथ से न सिर्फ मुद्दा छीन लिया बल्कि कद का भी कचरा कर डाला।

कमलनाथ भी नाखुश थे। उन्हें भी न पता था कि भोपाल में खेल चालू आहे। संयोग से शिव बाबू टकराए। जब दो दिग्गज साथ तो, बस लिख गई...स्क्रिप्ट।

डायरेक्शन शिवराज का...एक्ट कमलबाबू का और फ़िल्म पिटी दिग्गी बाबू की ?

मसले से  जुड़ा मस्त,अलहदा अंदाज में तैयार किया गया वीडियो उपर है ...देखें ज़रूर| भन्नाट वाला मज़ा आएगा 

जी..शिव,नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ से मिले। दिग्गी बाबू को किनारा किया। खैर अब समीकरण चौकस हों तो... फिर तो सुकून से बजाना बनता है..। अरे...नगड़िया भाई