अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा,एयरपोर्ट का हाल देखिए,बेकाबू हालात समझ आ जाएंगे


अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा,एयरपोर्ट का हाल देखिए,बेकाबू हालात समझ आ जाएंगे 

आखिरकार अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्ज़ा हो ही गया | रविवार को तालिबान ने काबुल में घुसकर राष्ट्रपति भवन पर अपना अधिकार ठोंक दिया | जहाँ राष्ट्रपति गनी सहित कई अन्य सत्ताधारी नेताओं ने देश छोड़ दिया है तो वही तालिबान ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है | 
देश के नागरिकों का डर अब साफ़ झलकने लगा है | एयरपोर्ट पर मची भगदड़ साफ़ साफ़ इशारा करती है कि यहां रह रहें लोग देश छोड़ने में ही भलाई समझ रहें है | अफरातफरी के माहौल में फायरिंग भी की गई है | देखिए वीडियो में सिमटी तस्वीरें हालात को साफ़ साफ़ बयां करती है | 
 
 
 
 
काबुल में रविवार को प्रवेश के साथ ही तालिबान ने ऐलान किया है कि देश का नाम इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान कर दिया जाएगा। तालिबान के एक अधिकारी ने कहा है कि इस नाम की घोषणा प्रेसीडेंसियल पैलेस से की जाएगी। उधर, अमेरिका के वरिष्ठ सैन्य कर्मचारी का कहना है कि काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को बंद करके सेना के व्यवसायिक विमान लगातार उड़ान भर रहे हैं।
 
काबुल में अपने सभी उपक्रम बंद कर अमेरिका ने अपने नागरिकों को सुरक्षित रहने और सभी के सुरक्षित एयरलिफ्ट कराने की बात कही है। भारत भी अपने दूतावास के स्टॉफ को सुरक्षित निकालने के लिए प्रयास कर रहा है। उधर, तालिबान का अफगानिस्तान में कब्जा होने पर फ्रांस ने काबुल से अपना दूतावास हटाकर दूसरी जगह स्थानांतरित किया है। वही भारत ने अपने कुछ नागरिको को वापिस बुलाने में सफलता हासिल की है तो दो विमान और भेजने की बात भी सामने आ रही है | 
 
 तालिबान के शीर्ष अधिकारी ने अफगानिस्तान का नाम बदलकर इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान करने का ऐलान करते हुए कहा कि किसी भी अफवाह से बचें। तनाव से बचे।
 
तालिबान ने सभी सरकारी कर्मचारियों से कहा है कि अफगानिस्तान में तालिबान 20 साल बाद लौट आया है। आइए मिलकर एक नई शुरुआत करते हैं।