सपेरे पहुंचे सीएम हाउस,आखिर क्या था मामला ?


राजधानी का श्यामला हिल्स स्थित मुख्यमंत्री का सरकारी निवास | मुख्यमंत्री से मिलने का जमावड़ा तो आम है लेकिन आज भारी संख्या में सपेरे पहुँच गए | हाथों में सांप तो नहीं था लेकिन चेहरे पर चिंता के भाव ज़रूर डोल रहे थे | मकसद साफ़ था  ... मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से मिलना है और अपनी समस्या का निवारण तुरत फुरत करवाना है | सपेरों के घेराव ने पुलिस का बीपी ज़रूर बढ़ा दिया | 

    हाथों में बड़ी से टोकरी और उसमें से झांकता भयानक सा सांप | जी ..अक्सर आपका, ऐसे लोगों से सामना हो ही जाता होगा ? जिन्हें आम बोलचाल की भाषा में सपेरा कहा जाता  है | सांप के दर्शन तो कभी सांप काटने का इलाज करके अपना जीवन यापन करने वाले सपेरों की,समय के साथ दुश्वारियां भी बढ़ी हैं | मूक जीवों की सुरक्षा को लेकर बने नए नियमों ने जहाँ इनका पुश्तैनी काम छीन लिया | जो ठिकाना था  ... थोड़ी बहुत ज़मीन जिस पर खेती करके गुज़ारा चल जाता था  ... उफ्फ,वो भी छीन लिया गया |  शनिवार को वैसे तो शांति थी लेकिन मप्र के सीएम हाउस के बाहर सपेरों का जमावड़ा  देखा गया।  ये सपेरे मुख्यमंत्री शिवराज से मिलने सीएम हाउस के बाहर बैठे हैं। स्थिति भांपते हुए पुलिस भी सक्रिय हो गई और तत्काल  प्रशासन ने सीएम हाउस की सुरक्षा में अपना  पुलिस बल तैनात किया।  


 
आखिर क्या है मामला 
सीएम हाउस के बाहर भीड़ लगाए ये सपेरे गुना जिले के राघोगढ़ तहसील के विजयपुर गांव से आए हैं।  इन सपेरों की फरियाद है कि विजयपुर गांव में उनके घर-मकान और खेती की जमीन छीन ली गयी है।  जिसके चलते नाराज सपेरे आज शनिवार को सीएम हाउस पहुंचे हैं। वही पुलिस ने मामले को बढ़ते देख सीएम हाउस की  सुरक्षा के इंतजाम किये।