शाह के बाद मोदी ने जो कहा ? सुनकर उफ्फ़..अफवाहों,अटकलों की दम घुटने से मौत


अरे यह क्या हुआ ?
मोशा तो शिव से नाराज़ थे ?
बडे बदलाव के कयास भी थे ?
लेकिन उफ्फ़...यह क्या बोल दिया गुरु ?
मोशा ने तो वो कह दिया जिसको सुनकर हाय..कितने मुंगेरीलालो के अरमान..एक दम चटक गए होंगे
अमित शाह के बाद मोदी भी बोल पड़े । बोले तो ऐसा कि शिव बाबू के कामकाज को लेकर तारीफों के पुल बांध डाले ।
यहां पीएम बोले... वहां उफ्फ़...मानो विरोधियों की खिचड़ी से धुआं निकल गया ।
   उड़ती अफवाहें आज ठंडी होकर जमीं पर हैं तो साहब गर्मागर्म,तड़केदार चर्चा कोने में जा टिकी हैं ।
  मौका था प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से जुड़े एक कार्यक्रम का । मप्र के हरदा जिले से योजना ने जमीन को छुआ । लगभग डेढ़ करोड़ के आसपास लोग अलग अलग माध्यम से जुड़े थे । पीएम नरेंद्र मोदी भी कार्यक्रम में लाइव जुड़े थे ।
मोदी ने न सिर्फ मप्र सरकार के काम काज की जमकर तारीफ की बल्कि पूरे संतोष की मुहर भी खुलकर चस्पा कर दी ।
कार्यक्रम के दौरान मप्र के तीन हज़ार गांव के 1 लाख 70 हज़ार से अधिक लोगों को प्रॉपर्टी कार्ड हासिल हुआ ।
अब भैया अफवाहों का दिमाग नही होता लेकिन पंख...गज़ब उड़ान भरते हैं ।
अब ठीक भी है साहब..जब काम धंधा हाथ न हो...तो मन बहलाने के लिए अटकलों की आंच पर ख्याली पुलाव पकाने में उफ्फ़...हर्ज क्या ?