कांग्रेस का क्या करें ? एक रायता समेटा नही जाता और दूसरा फैलने के लिए तैयार । अब नया मसला मुई खंडवा लोकसभा सीट । देखिए आखिर हुआ क्या ?


कांग्रेस का क्या करें..एक रायता समेटा नही जाता और दूसरा फैलने के लिए तैयार ।
अब नया मसला मुई खंडवा लोकसभा सीट ।

यहां रिक्त सीट के लिए चुनाव की घोषणा हुई और वहां चिकचिक शुरू । प्रदेश में पार्टी के मुखिया कमल बाबू फिलहाल उड़नछू हैं ।
तो साहब..अपनी सियासी जमीन तलाश रहे अरुण यादव के दिमाग को चकरघिन्नी करते हुए निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा ने ठोंक कर दावा पटका है कि ..गुरु टिकिट मिलेगा तो उनकी पत्नी को ।
(उफ्फ़ वाला वीडियो देखिए)

 
 वैसे अरुण यादव भी फुल हवा में हैं । मान कर बैठे हैं कि "उनकी दावेदारी...सब पर भारी" । दौड़ धूप भी ज़ारी है । लेकिन शेरा का कॉन्फिडेंस कहता है कि गुरु तिल्ली में तेल तो है । 
अच्छा यह वही सीट है साहब जो भाजपा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन के बाद खाली हुई है ।
खैर..धूमधड़ाका तो कांग्रेस की गलियों में आम है लेकिन गुरु..इस बार यदि बर्तन टकराए तो पार्टी को बड़ा सियासी नुकसान हो सकता है ।
क्योंकि आमने सामने शेरा और अरुण यादव हैं । दोनो को नाराज़ करना.. कांग्रेस में पोल कर देगा ।
खैर अब गेंद कमल बाबू से होती हुई राहुल बाबा के पाले में हैं..। छींका किसके भाग में उफ्फ़..तनिक इंतज़ार कीजिए