मप्र का मुख्यमंत्री कौन ? देखिए और समझिए...आखिर क्या है मामला ?


यहां फोन की घँटी बजी ..वहां आंखे चौड़ी हो गई ।
गुरु यह क्या...?
भले ही मप्र में शिवराज बाबू की सरकार हो लेकिन राज्य का एक पॉवरफुल महकमा इस बात को नही मानता ?
जी सामान्य प्रशासन विभाग के डिजिटली दस्तावेज में आज भी मंत्रालय की पांचवी मंज़िल पर कमलबाबू का कब्जा है ।
और मज़े की बात, विभाग खुद शिव बाबू के जिम्मे है ।

चौंकिए मत ...बल्कि देखिए..। यह ओपन की GAD यानी कि सामान्य प्रशासन विभाग की अधिकारिक साइट ...।
मंत्रिमंडल गठन एवं पुर्नगठन संबंधी सूचनाओं पर नज़र फेंकिए । जी कमलनाथ सरकार के गठन की सूचना तो है लेकिन सत्ता बदलाव को लेकर कोई जानकारी ही अपडेट नही की गई ।

अब भैया भगवान जाने..विभाग इतना गैर जिम्मेदार है...? या फिर विभाग को तोड़फोड़ करके सरकार बनाना रास नही आया !
वजह जो भी है...लेकिन सिर्फ लापरवाही ही नही बल्कि एक तरह से गुमराह करने जैसी हरकत है ।
सुना है कि प्रदेश में लालफीताशाही का चरचर्राटा जबर है लेकिन सरकार को भी ताक पर रख दिया जाए तो उफ्फ़..आगे तो भगवान मालिक है..