मीडिया पर क्यो भड़के कमलनाथ। खीज,गुटबाजी या फिर फिरकी


यहां प्यार से मिले और मुंहफट मीडिया ने मुलाकात को लेकर एक सवाल क्या दाग दिया..कमल बाबू तो ऐसा फटे कि ....
उफ्फ़..कांग्रेस के गुटबाजी की खीज भी साथ में टपक गई। 
अब भैया ...सई भी है...दिग्गी बाबू भाजपा के बहाने ..अपनी सियासी मांझा सूतने की जुगत में हैं।
 ऐसे में कमलबाबू का मज़े लेना भी सौ फीसदी बनता है?

पूरे मामले को देखिए ऊपर टंगे वीडियो में   .. टकाटक उफ्फ अंदाज में  


दरअसल  हुआ कुछ ऐसा कि.. दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से मिलने का वक्त मांगा। 
मुलाकात तय भी हुई लेकिन अचानक वक्त बदलने से नाराज दिग्गी बाबू धरने पर बैठ गए।
 यहां शिव और कमल की मुलाकात स्टेट हैंगर पर हो गई। 
मुख्यमंत्री ने बताया कि वह मिलने को तैयार हैं लेकिन दिग्विजय तो धरने पर बैठ गए। 
मिले मौके को भुनाते हुए शिव ने इशारों ही इशारों में बहुत कुछ समझा दिया। 
यहाँ दिग्गी से बात करने की बात कहते हुए कमलबाबू सीधे दिग्गी के धरने पर पहुंचे। 
बस यही मीडिया ने दुखती रग पर हाथ रख दिया। 
वैसे कमलबाबू ने दिग्गी के साथ होने का दावा किया लेकिन खलिश तो थी जो उफ्फ़...खीज बनकर सामने आ गई!