तालिबानी नियम,पढ़ कर काँप जाएंगे आप


 अफगानिस्तान में तालिबान क्या आया मानो महिलाओं पर कहर टूट पड़ा है | एक बार फिर बीस साल पहले की तस्वीरें आकार लेती दिख रही है | तालिबान कल्चरल कमीशन नाम से निकाली गई एक चिट्ठी का मज़मून आपको हिला कर रख देगा | यह सब तब,जब तालिबान ने कहा है कि इस बार ज्यादा सख्ती नहीं की जाएगी बल्कि रवैया थोड़ा नरम होगा | 

पढ़ लीजिए वो नियम जो तालिबान के अनुसार थोड़े नरम है | सौ फीसदी आप भी हिल जाएंगे | 
जारी की गई शर्ते ऐसी हैं जो समझ तो छोड़िए इंसनियत से भी परे हैं | 
 
  1. महिलाएं बिना मर्द के कही अकेले नहीं जा सकती हैं | 
  2. दुकान पर सामान लेने अगर अकेले महिला पहुंची तो दुकानदार सामान नहीं देगा  | महिला को अपने पति या किसी मर्द के साथ ही जाना होगा। और यदि किसी तरह की गलती दुकानदार ने की तो  वो भी सजा का हकदार होगा ।   
  3. लड़कियों के स्कूल जाने पर पाबंदी होगी | 
  4. बेटियों की शादी तालिबान लड़कों से करनी होगी | विधवा औरतों को भी तालिबान लड़ाकों से शादी करनी होगी।  
  5. तालिबान कल्चरल कमीशन की इस चिठ्टी में कहा गया है की इलाके की सभी 15 साल से ज्यादा उम्र की लड़कियों और 45 साल से कम उम्र की विधवा महिलाओं की सूची तत्काल उपलब्ध करवाई जाए |   
  6. महिलाओं को सिर से लेकर पैर तक अपने आपको बुर्के से ढकना ज़रूरी होगा | 
  7. लड़की हो या महिला अब नौकरी नहीं कर सकेंगी | 
  8. मर्दों के लिए भी कुछ नियम ज़ारी किए गए हैं | सभी पुरुषों को दाढ़ी रखना अनिवार्य होगा | साथ ही पगड़ी भी आवश्यक तौर पर पहनना होगी | 
  9. चोरी करने पर हाथ पैर काटने की सजा मुकर्रर होगी | 
  10. समलैंगिक में आरोपित मर्द को छत से निचे गिरा कर मारने का प्रावधान होगा | 
  11. यदि किसी ने नियम तोड़ने की कोशिश की या लापरवाही बरती तो पत्थर से मार मार कर मौत के घाट के उतार दिया जाएगा | 
  
 
     आतंक के पर्याय बन चुके तालिबान का यह हुक्म अब चर्चा में हैं | देश के लोगों में दहशत का आलम है | सभी ने अपने आपको चारदीवारी के अंदर कैद कर लिया है | जो सक्षम हैं वो देश छोड़ने के लिए पूरे जतन से जुटे हैं |