देश और वहां के पार्क

देश और वहां के पार्क

घूमो मस्ती में : अभी परिक्षाओं का समय है। इसके बाद बच्चों के साथ-साथ आपको भी अपनी रोजाना कि लाइफ से थोड़ा चेंज चाहिए। तो क्यों न कहीं घूम जाया जाए। बच्चों के एग्जाम के बाद यदि आप विदेश जाने का प्लान बनाते हैं तो इस बार दुनियाँ के कुछ खास एम्यूजमेंट पार्क आपके लिए बेहतरीन साबित हो सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि किन देशों में है ये पार्क।

 

यूरोपा पार्क, जर्मनी : ये जर्मनी के फ्रायबर्ग शहर में बना सबसे बड़ा एम्यूजमेंट पार्क है, जो बच्चों की थीम पर बना है। यहां आपको 13 अलग-अलग प्रकार की थीम देखने को मिलेंगी। यहां का ख़ास आकर्षण है ब्लू फ़ायर झूला। ये झूला कुछ सेकिंड में ही काफ़ी तेज़ रफ़्तार पकड़ लेता है

                                                                           

गार्डा लेंड, इटली : यहां काफी संख्या में पर्यटक आते हैं। ये पार्क लेक गार्डा के पास बना है। यह पार्क 4 अलग-अलग हिस्सों में बांटा गया है। इसमें अलग-अलग तरह की थीम हैं।

                                                                          

डिजनीलैंडफ्रांस : डीज़नीलेण्ड में आपको कई किरदार देखने को मिलेंगे, आप खासकर बच्चे इन से मिलकर बहुत खुश होंगे। पेरिस घूमने जा रहे हैं तो यहां का खास आकर्षण यानी डिजनीलैंड देखना न भूलें।

                                                                           

एल्टन टॉवर्स, ब्रिटेन : किलव की तरह बने इस पार्क में एक बोटेनिकल गार्डन है। यहां बैठकर आप यहां के अलग-अलग दृश्यों का आनंद ले सकते हैं।

Read more...

बाहर घुमने जाने का प्लान, इन चीजों का रखें ध्यान

बाहर घुमने जाने का प्लान, इन चीजों का रखें ध्यान

घूमो मस्ती में : घूमना फिरना किसे पसंद नहीं होता, और इसके लिए हम पहले से भी बहुत तैयारी करते हैं। अगर तैयारी में कुछ भी कमी रह जाये तो सफ़र का मज़ा किरकिरा हो जाता है। अगर आप भी कहीं घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं तो अपने साथ ये खास चीजें ज़रूर लें जाये। ये आपकी यात्रा को आसान बनाएंगे और आपके काफी काम आएंगी।

 

स्लीपिंग बैग : सफ़र में नींद पूरी होना भी बहुत ज़रूरी है। इसलिए अपनी ट्रेवल एसेसरीज़ में स्लीपिंग बैग को ज़रूर शामिल कीजिये। स्लीपिंग बैग आपको रेंट पर भी मिल जाते हैं।

                                                                                           

बैकपैक कवर : बैकपैक वॉटरप्रूफ हो या न हो, बैकपैक फिर भी अपने साथ ज़रूर लेकर जाएं। हाईकिंग, ट्रेकिंग के समय बदलते मौसम में आपको इसकी ज़रूरत पड़ती ही है। तेज़ बारिश में वॉटरप्रूफ बैग में रखा मोबाइल, पॉवर बैंक, कैमरे भी खराब हो सकता है। इस लिए ट्रेवलिंग करते समय इसे अपने साथ ज़रूर रखें।

                                                                                 

नेवीगेटर व मैग्नेटिक कंपास : नेवीगेटर या मैग्नेटिक कंपास बिना नेटवर्क वाले एरिया में आपको भटकने नहीं देगा। वेकेशन पर जाकर किसी नई जगह को एक्सप्लोर करने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो परेशानी से बचने के लिए नेविगेटर या मैग्नेटिक कंपास आपके लिए खास रहेगा।

                                     

                                    

Read more...

भाग दौड़ भरी जिन्दगी से यूं करें मूड फ्रेश

भाग दौड़ भरी जिन्दगी से यूं करें मूड फ्रेश

जिन्दगी : आज की भागदौड़ भरे समय में लाइफ काफी बोरिंग हो गई है। आज हर कोई इतना व्यस्त है कि उसे न तो अपने लिए समय है ना अपने परिवार और दोस्तों के लिए। ऐसे में कभी-कभी मूड बहुत ऑफ़ हो जाता है। और लगता है कि कुछ ऐसा किया जाये जिससे मूड एकदम फ्रेश हो जाये। लेकिन क्या.??  आखिर ऐसा क्या किया जाए जिससे मूड एकदम फ़्रेश हो जाये। तो आइए जानते हैं।

अपना मनपसंद खेल खेलें : माना कि समय नहीं है आप के पास, आप बहुत व्यस्त हैं लेकिन जब भी थोड़ा-सा भी समय मिले तो अपना मनपसंद खेल खेलें, चाहें तो पति, बच्चों और दोस्तों को साथ ले सकते हैं। आप को मज़ा तो आएगा ही और आप फ़्रेश भी फील करेंगे।

                                   
दोस्तों के साथ बैठकर चाय पार्टी : शाम के समय जब आप किसी दिन ऑफिस से जल्दी घर आ गये हैं और बोर फ़ील के रहे हैं तो अपने खास दोस्तों के साथ अदरक वाली चाय पार्टी कर सकते हैं। दोस्तों के साथ समय बियायें औए चाय का आनंद लें। 

                                                                               

अपना मन पसंद संगीत सुनें : मूड फ़्रेश करने का ये सबसे अच्छा उपाय है। अपने मन पसंद गाने, अपना मनपसंद संगीत सुनें। इससे आप को बहुत रिलैक्स और फ़्रेश फ़ील होगा।

                                       

घूमने जायें : मूड फ्रेश करने के लिए आप परिवार के साथ अपनी मनपसंद जगह घूमने का सकते हैं। खूब घूमें फिरें, फोटोग्राफी करें और खरीदारी करें। जिससे आप फ़्रेश फ़ील करेंगे।

                                    

टीवी देखें : अगर आप टीवी देखने के शौकीन हैं तो कुछ देर ही सही, टीवी पर अपना पसंदीदा प्रोग्राम देखकर आप को अच्छा लगेगा। 

                                     

किताबें पढ़ना : किताबें पढ़ना बहुत अच्छा ऑप्शन है। इससे आप की नॉलेज तो बढ़ेगी ही आप नई जानकारियों से भी रूबरू होंगे। इस लिए जब भी बोर हों तो अपनी पसंदीदा किताब उठाईये और उसे पढ़ डालिए।

                                     

 

Read more...

रिटायरमेंट, यूं जीये मौज में जिंदगी

रिटायरमेंट, यूं जीये मौज में जिंदगी

उफ़्फ़ ये जिंदगी : रिटायर मेन्ट के बाद एक नई पारी की शुरुआत - समय पंख लगाकर कैसे उड़ जाता है पता ही नहीं चलता। शादी हुई, बच्चे हुए,  बच्चे बड़े हुए और अपनी एक अलग दुनियाँ मे रम गये। इन सब जिम्मेदरियों को निभाने में हमें अपने लिए वख्त ही नहीं मिल पाया। अब रिटायरमेंट भी हो गया अब वख्त ही वख्त है अपने लिए तो क्यों न क्यों हम वो सब करें जो करने की ख्वाहिश मन दबी रह गई थी। अभी तक आप अपनों के लिए जिये अब समय है अपने लिए जीने का। तो आइए इस सेकंड इनिंग की शुरुआत कुछ इस तरह करते हैं।

 

पहले की तरह व्यवस्थित रहें :  प्रेस किये कपड़े, पॉलिश से चमकते जूते और बिल्कुल सधे हुए बाल। हाँ क्यों नहीं आप ऐसे ही तो जाते थे अपने ऑफिस। तो अब क्यों नहीं। रिटायर हुये तो क्या हुआ,  रोज़ इसी तरह तैयार हों और अपने आप को व्यवस्थित रखें। क्योंकि ये सब आपको खुशी देगा।

                                                                                          

खुद को व्यस्त रखें : ये न सोचें कि रिटायर होने के बाद आपके पास कोई काम नहीं है। अपने आप को व्यस्त रखने की कोशिश करें। आप चाहें तो अपने शौक का कोई काम कर सकते हैं, जैसे कि सुबह-शाम सैर पर जाना, गार्डनिंग करना, किताबें पढ़ना। जितना आप अपने आप को व्यस्त रखेगे उतना ही आप स्वस्थ्य रहेंगे। क्योंकि ख़ाली दिमाग़ शरीर को बीमारियों का घर बना देता है।

                                        

सब से मेलजोल रखें : अब आप के पास समय ही समय है तो दिल खोल कर सब से मिलें। अब समय की भी कोई बंदिश नहीं है, अपने दोस्तों से मिलें, उनके साथ समय बितायें, अगर आप के बच्चे शहर से बाहर हैं तो आप उनका इंतजार न करके वीकेंड पर उनसे मिलने जा सकते हैं।

 

अपना रिश्ता समझदारी से निभायें : रिश्ते हमेशा दोनों तरफ से निभाये जाते हैं ये पहल दोनों तरफ से की जाए तो रिश्तों की डोर मज़बूत होती है। मज़बूत रिश्तों के साथ जीवन आसान और सुखमय हो जाता है। हमेशा दूसरों के आने का, दूसरों के फोन का इंतज़ार न करें बल्कि खुद पहल करें।

                                                                                                       

समय के साथ चलें : आप बोरियत से बचने के लिए सोशल मीडिया का सहारा भी ले सकते हैं। अगर आपको इस बारे में जानकारी नहीं है तो आप सिख सकते हैं, नई चीज़े सीखेंगे तो मन में उत्साह बढ़ेगा और आप अपने आप को दुनियाँ से जुड़ा हुआ महसूस करेंगे। सोशल मीडिया का सीमित ही सही लेकिन इस्तेमाल ज़रूर करें।

Read more...

उफ्फ, गोवा के ये लुभावने बीच

उफ्फ, गोवा के ये लुभावने बीच

गोवा| गोवा अपने समुद्र तटों के लिए दुनियाभर में मशहूर है। चमकती रेत, आसमान छूते नारियल के पेड़, बड़ी-बड़ी समुद्री लहरें और शानदार सी-फूड... बस गोवा का नाम लेते ही आंखों में ये सब बस जाता है। और वहां गए लोग भी मानते है कि गोवा के समुद्र तट वाकई मनमोहक हैं। वहां के लुहावने बीच भी बहुत लोकप्रिय है। अब ये तो वही बता सकते है जो वहां घूम कर आएं है। गोवा के बीच यहां आने वाले के मन में शांति भर देते हैं।

पणजी:
अब बारी आती है गोवा की राजधानी पणजी। पणजी छोटा शहर जरूर है लेकिन बेहद खूबसूरत है। यह शहर चांदी-सी चमकती धाराओं वाली मांडवी नदी के किनारे बसा है और लाल छतों वाले मकान, खूबसूरत बगीचे, अद्भुत शिल्पकारी वाली मूर्तियां, खूबसूरत गुलमोहर और हरे-भरे पेड़ों की छाया के लिए जाना जाता है। हर कोई यहां की खूबसूरती में खो-सा जाता है। इसके अलावा मारगाओ, वास्को डिगामा तथा मार्मुगाओ हार्बर जैसी जगह घूमकर सफर का पूरा लुत्फ उठाया जा सकता है।
मीरामार बीच:
पणजी के बाद मीरामार बीच जो पणजी के नजदीक से सिर्फ 3 किलोमीटर दूर स्थित इस खूबसूरत सुनहरे समुद्री तट की मुलायम रेत, ताड़ के पेड़ और अरब सागर की नीली छटा देखकर हर कोई मंत्रमुग्ध हो जाता है। 
मोबोर बीच:
रोमांच बेहद पसंद करने वाले टूरिस्टों के लिए मोबोर बीच सबसे बढ़िया जगह है। यह गोवा के सबसे फेमस बीच में से एक है। यहां पर्यटक कई एडवेंचरस खेल जैसे वॉटर स्कीइंग, वॉटर सर्फिंग, जेट स्की, बनाना-बम्प राइड और पैरासिलिंग का मजा लेते हैं।
वागातोर बीच:
वागातोर बीच मापुसा रोड के पास नॉर्थ (उत्तर) गोवा में पणजी से 22 किलोमीटर दूर है। यह गोवा के बाकि तटों के मुकाबले कम भीड़ वाली और अलग सी जगह है। इसमें सफेद रेत, काली लावा चट्टानें, नारियल और खजूर के पेड़ की सधी कतारें हैं। साथ ही यहां 500 साल पुराना पुर्तगाली किला है। आज के दौर की इमारतों के बीच इसका दीदार रोमांचकारी लगता है। वागातोर का यह सफेद रेतीला बीच 'बिग वागातोर' और 'लिटिल वागातोर' के नाम से भी जाना जाता है और यह चपोरा किले की ऊंचाई से खूबसूरत दिखाई देता है। 
इमेक्यूलेट कंसेप्शन चर्च और रिस मगोस फोर्ट:
इस चर्च और फोर्ट की कहानी काफी पुरानी है। इमेक्यूलेट कंसेप्शन चर्च और रिस मगोस फोर्ट, अवर लेडी ऑफ इमेक्यूलेट कंसेप्शन चर्च गोवा में बनने वाला पहला चर्च था। यह 1541 से है। पहले बना चर्च पूरी तरह नष्ट हो गया था और इसे फिर से 1619 में बनाया गया। तब यहां आबादी नहीं के बराबर थी। 
मोरजिम बीच:
मोरजिम बीच को पर 'टर्टल बीच' के नाम से भी जाना जाता है। यह नॉर्थ गोवा के परनेम में है। इस बीच में हरे-भरे वातावरण के साथ एक खूबसूरत और ठंडा रास्ता भी है। मोरजिम बीच इसलिए भी खास है क्योंकि यह कछुए की लुप्त होती प्रजाति 'ओलिव रिडले' के रहने की जगह और प्रजनन स्थान है। इस बीच पर दिखने वाले छोटे छोटे कछुए और केंकड़े आप का अनुभव यादगार बना देते हैं।
बेटलबटीम बीच:
'सनसेट' देखना अपने आप में एक अलग और दिल में बस जाने वाला मनमोहक अनुभव होता है। उस पर भी अगर सूर्यास्त बेटलबटीम बीच का हो तो सुंदरता कल्पना से परे है। मजोरडा बीच के दक्षिण में स्थित बेटलबटीम बीच गोवा के सबसे सुंदर बीचों में से है। शानदार सनसेट की वजह इसे ‘सनसेट बीच ऑफ गोवा’ भी कहा जाता है।
बोंडला वाइल्डलाइफ सेंचुरी:
बारिश के मौसम में गोवा जा रहे हैं तो अपने पसंदीदा जानवरों को करीब से देखने के लिए बोंडला वाइल्डलाइफ सैंचुरी एक बार जरूर जाएं। गोवा की यह छोटी लेकिन मशहूर सेंचुरी शहर के उत्तरपूर्वी इलाके में पोंडा तालुका में है। 
बागा बीच:
गोवा में वैसे तो कई आकर्षक बीच हैं और यहां का नाम लेते ही दिमाग में सुपर एडवेंचरस बागा बीच का नाम आता है। जिसको भी गोवा की खूबसूरती देखने का मौका मिला है वो मानता है कि बागा बीच सबसे रोमांचक बीचों में से एक है। 

पलोलेम बीच:
पलोलेम बीच साउथ (दक्षिण) गोवा के कानाकोना जिले में चैडी से 2 किमी दूर पश्चिम में स्थित है। कुछ सालों पहले तक पर्यटकों का इस बीच में आनाजाना नहीं था, लेकिन पिछले कुछ समय में यहां विकास हुआ और व्यवसायिक गतिविधियां बढ़ने के साथ ही लोगों की भीड़ बढ़ने लगी। कानाकोना के दक्षिणी तालुका में पश्चिमी घाट की ओर से खूबसूरत सूर्यास्त और सूर्योदय देखा जा सकता है। पलोलेम 

गोवा के चर्च:
चर्च तो सभी जगह के लोकप्रिय होते है लेकिन गोवा के चर्च भी काफी लोकप्रिय हैं। गोवा में रहे पुर्तगालियों के लंबे राज की वजह से यहां कई चर्च हैं। पूजाघर होने के अलावा यह चर्च पिछले समय की खूबसूरत वास्तुकला का नमूना भी है।

सेंट कैथेड्रल चर्च:
सेंट कैथेड्रल चर्च गोवा का सबसे प्राचीन, सबसे बड़ा और सबसे सुंदर र्चच है जिसमें पांच घंटे लगे हैं। इसका एक सोने का घंटा गोवा में सबसे बड़ा है और दुनिया के कुछ सबसे अच्छे घंटों में से एक है। इसके अलावा र्चच ऑफ सेंट फ्रांसिस, सेंट आगस्टीन टॉवर, र्चच ऑफ आवर लेडी ऑफ रोजरी भी हैं। 

चपोली डैम:
मडगांव से 40 किलोमीटर दूर चपोली डेम पहाड़ों से घिरी घाटी में होने की वजह से प्राकृतिक आकर्षण से भरपूर है। अगर आपको मछली पकड़ना पसंद है तो यह ईको-टूरिस्ट स्पॉट आपके लिए सही है। इस डेम पर कई और नए अनुभव आपको मिलते हैं। 

महालक्ष्मी मंदिर:
गोवा के बंडोरा गांव में महालक्ष्मी मंदिर है। इस मंदिर का खूबसूरत चैक इसका बड़ा आकर्षण का केंद्र है। इस मंदिर का निर्माण 1413 ईस्वी में हुआ था और देश भर से लोग इसे देखने आते हैं। नवरात्रि का उत्सव यहां खासतौर से और पूरे उत्साह के साथ मनाया जाता है और नवरात्रि के समय यहां काफी भीड़ होती है। 

मंगेशी मंदिर:
गोवा का मंगेशी मंदिर मॉर्डन और पुरानी हिंदू वास्तुकला का मिलाजुला नमूना है। यह मंदिर भगवान शिव के अवतार भगवान मंगेशी को समर्पित है। कहानियों के अनुसार स्वयं भगवान ब्रह्मा ने यहां लिंग की स्थापना की थी। हर सोमवार को यहां भगवान की मूर्ति की यात्रा निकाली जाती है। जो बड़े ही हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाता है।

Read more...



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED