उफ़्फ़...दुःखद बेटी बनी बैल और माँ ने सम्हाली डोर

यहाँ पढ़ें...

बैल के स्थान पर बेटी और और डोर सम्हालती माँ....। 
क्या करती..... पेट भरने के लिए यह भी करना पड़ा । 
साधन न थे ...छोटे छोटे बच्चों का पेट ,,जो भरना था |
मजबूरी सब कुछ करवाती है ...। 
सोच बेहतर थी ...बजाय किसी ओर के मेहरबानी पर जीवन पालने से बेहतर था कि हाड़ तोड़ मेहनत कर सम्मान की रोटी खायी जाए । 
मप्र के देवास जिले के भिलाई ग्राम की रहने वाली इस मां का नाम है कारीबाई और बैल बनी यह लड़की कारीबाई की बेटी कृषणा है । किस्मत का खेल देखिये 3 साल पहले एक सड़क हादसे में उसके पति हरदास और बेटे संतोष को मौत लील गयी । 
परिवार में बच गए कारीबाई और उसके छोटे छोटे 4 बच्चे ।
पेट भरने का कोई अन्य साधन न था । हालात बिगडते देख इस मां ने मजबूत इरादों के साथ अपनी खाली पड़ी ज़मीन पर खेती करने का फैसला लिया । 
सरकार की किसान उत्थान के लिए सैकड़ों योजनाएं हैं लेकिन उफ़्फ़ ..कारीबाई तक एक भी योजना न पहुंची । 
क्या करती बेचारी ...अपनी मासूम बेटी को बैल के स्थान  पर जोता और खुद डोर सम्हाल ली । बेटी कृषणा ने भी अपनी जिम्मेदारी समझते हुए स्कूल से मुंह मोड़ लिया है और अपनी मां के साथ परिवार चलाने की कवायद  में शामिल हो गयी है।  कारीबाई अपनी 4 एकड़ जमीन पर मेहनत और खुद्दारी के बलबूते मक्का एवम मूमफली की पैदावार कर अपना और अपने बच्चों का पेट भर रही है । 
विडम्बना देखिए बीते 15 साल किसान पुत्र पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ...कृषि को लाभ का धंधा बनाये जाने का गाना गाते रहे लेकिन सारी कवायद सिर्फ और सिर्फ दिखावा साबित हुयी । 
सरकारी कागजों पर ..किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए कृषि उपकरणों एवं खाद बीज पर अनुदान दिया जाता है लेकिन शायद यह लाभ सिर्फ रसूखदारों तक ही सीमित है बाकी असल भूमि पुत्र तो आज भी जिंदगी गुज़र बसर करने के लिए परेशानियों से दो चार हो रहें हैं । 
कहते है कि वक्त बदला है ....सरकार देखिये इस मां और बेटी को....शायद आपका दिल पसीज जाए । सोचिए ॥यह खुद्दार माँ अपना परिवार का गुज़र बसर तो कडा संघर्ष करके कर ही रही है लेकिन जमीनी सतह पर सरकारी योजनाओ का क्या हश्र होता है ...शायद इसका जबाब देने क लिए ...उफ़्फ़ आपके पास शब्द भी न हो

बोलो बिंदास ...व्यवस्था से परेशान हो या फिर सकारात्मक कदमों के बाद आये बेहतर परिणाम ..सभी पर होगी नज़र 

Uff Yeh is a hindi news channel in India. Uffyeh.com is a growing hindi news website that focuses on delivering latest national and international news about business, politics, sports, entertainment, technology, lifestyle, astrology and more in hindi language. 

For more updates on hindi news, click on the links below:

Official website:

http://www.uffyeh.com/

Like us on Facebook:

https://www.facebook.com/uffyeh.official/

Follow us on Twitter:

https://twitter.com/uffyeh1

Subscribe To Our Channel:

https://www.youtube.com/channel/UCgKRWsh-aAilF67Lm6YKhIQ?view_as=subscriber

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED