उफ्फ...क्यों भड़के दिग्गी

यहाँ पढ़ें...

भोपाल (मप्र) : मध्यप्रदेश किसान गोली हत्या कांड की पूरी जानकारी विधानसभा मे पटल पर रखी गई। इस मामले में कांग्रेस सरकार ने यू टर्न लिया है। जिसे देखने पर लग रहा गृह मंत्री और वन मंत्री ने इसे एक तरह से क्लीन चिट दे दी है। साथ ही कांग्रेस मंत्री ने कहा, सरकार ने अपनी आत्मरक्षा के लिए गोलियां चलाई थी और आंदोलन हिंसक न हो इसलिए सरकार ने गोलियां चलवाई थी। लेकिन अब कुणाल चौधरी ने इस पर सफाई देते हुए कहा कि जांच को सिर्फ विधानसभा सभा मे पटल पर रखा गया है वहीं उन्होंने साफ कर दिया है कि इस मामले में फिर से जांच की जाएगी। इसकी अनुमति हमें गृह मंत्री से मिल गई है। गौरतलब है कि भाजपा सरकार के दौरान किसान आंदोलन में मंदसौर में पुलिस द्वारा किसानो पर गोली चलाई गई । इस पर कई तरह की बयान बाजी हुई थी। मन्दसौर किसान गोली कांड भाजपा सरकार के दौरन और विधानसभा चुनाव में बहुत चर्चा में रहा, विपक्ष द्वारा कहा गया, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहन ने आंदोलन में किसानों पर गोलियां चलवाई जिस पर किसान आंदोलन और आक्रोशित हो गया था। लेकिन विधानसभा मे इसे बताया गया कि सरकार ने हिंसा भड़कने सर बचाने के लिए फायरिंग की थी। अब इस पर कोंग्रेस विधायक कुणाल चौंधरी का ने बयान दिया है -कहा कि जो जांच आई है वो अभी पटल पर रखी गई है और ये हमारा काम इसे पटल पर रखना। लेकिन उन्होंने कहा है किसान गोली कांड की फिर से जांच की जाएगी। हमने इसकी मांग की है और बाला बच्चन जी ने इसकी स्वीकृति भी दे दी है । पिछली सरकार में 6 किसान की हत्या हो गई थी लेकिन सरकार ने कलेक्टर को हटाने में 2 महीने लगा दिए। किसान गोली कांड के दौरान कांग्रेस विपक्ष में थी और इस गोलीकांड की पहली बरसी और राहुल गांधी के मंदसौर दौरे पर उन्होंने भी इस मुद्दे को जम कर उछाला , कहा भाजपा सरकार ने किसानो पर गोलियां चलवाई, किसानों की हत्या की। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी बयान दिया कि गृह मंत्री और वन मंत्री ने भाजपा को क्लीन चिट भले ही दे दी है लेकिन हम ये नही स्वीकार सकते है। किसानों पर जो पुलिस फायरिंग हुई थी उसे जस्टिफाई कर दिया है ये तो हम स्वीकार नही कर सकते । साथ ही दिग्विजयसिंह ने कहा वन मंत्री के अनुसार नर्मदा किनारे पेड़ लगाए गए है कोई घोटाला नही हुआ इस पर उन्होंने कहा मैं 3100 किमी चला हुं मुझे पता है बहुत बड़ा घोटाला हुआ है।  पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह वन मंत्री उमर सिंगार के क्लीन चिट देने से नाराज चल रहे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने वन मंन्त्री के बयान पर सवाल खड़े किए थे जिसके बाद वन मंन्त्री ने सफाई देते हुए कहा कि पूरे मामले में जांच कराई जाएगी नर्मदा मैया से जो छल किया है उसकी जांच होगी। इस पर बीजेपी की ओर से पलटवार करते हुए राहुल कोठारी ने कहा, सरकार में सब कुछ ठीक नही चल रहा। अफसरों के ट्रांसफर कैंसल हो रहे। कोंग्रेस नेता एक दूसरे का सिर फोड़ रहे है। इसके बाद सरकार के जो आका बने हुए है दिग्विजय सिंह का इस तरह का बयान आपत्तिजनक है। कहा किसी भी योजना को बनाने का काम कार्यपालिका का होता है उस योजना पर क्या क्या काम हुआ है ये सब काम कार्यपालिका का होता है और इस पर जवाब आ चुका है इसकी पूरी जानकारी विधानसभा में पटल पर रखी जा चुकी है। 

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED