ताई का दांव फंस गए मोदी-शाह

यहाँ पढ़ें...

मध्यप्रदेश: दुखी ताई

सुमित्रा महाजन ने चुनाव ना लड़ने के लिए लिखा पत्र।

इंदौर से सांसद है लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन।

8 बार राह चुकी है संसद।

पार्टी से दुखी होकर ताई ने लिखा पत्र।

अभी तक इंदौर से उम्मीदवार तय ना किए जाने से नाराज़ है ताई।

लोकसभा स्पीकर और इंदौर की वर्तमान सांसद सुमित्रा महाजन ने बड़ा ऐलान किया है। महाजन ने लोकसभा चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है। 

चुनाव ना लड़ने के फैसले के बाद अब उन्होने  पत्र  लिखा है। महाजन ने लिखा है कि इंदौर में प्रत्याशी को लेकर असमंजस खत्म करे, मुझे चुनाव नही लड़ना है । मै इसकी घोषणा करती हूँ। महाजन ने लिखा है कि भाजपा ने अभी तक इंदौर से लोकसभा के उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है। संभव है कि पार्टी निर्णय लेने में कुछ संकोच कर रही है। हालांकि मैंने पार्टी के नेताओं पर ही इस बारे में निर्णय छोड़ा था। लेकिन उनके मन में कुछ असमंजस है। इसलिए मैं यह घोषणा करती हूं कि मुझे लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ना है। अब पार्टी अपना निर्णय मुक्त होकर और नि:संकोच मन से करे।वही उन्होंने पार्टी, कार्यकर्ताओं और जनता को प्यार और सहयोग देने के लिए धन्यवाद दिया है।


*सुमित्रा महाजन का पत्र*

वहीं इस पूरे मामले पर कांग्रेस की मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा का कहना है कि बीजेपी की यह परंपरा रही है की जितने भी शीर्ष नेतृत्व है उन्हें वह घर बैठती जा रही है। मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने शीर्ष नेतृत्व को नकार दिया है और अपमान किया है।

शोभा ओझा, अध्यक्ष मीडिया विभाग - कांग्रेस*

आप बता दे कि बीजेपी ने एमपी की 18 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है लेकिन अबतक भोपाल, इंदौर समेत 11 सीटों पर ऐलान नही किया है। इंदौर से ताई की जगह इस बार वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय और महापौर मालिनी गौड़ का नाम चर्चा में है। वही कांग्रेस ने भी अबतक इस सीट से उम्मीदवार का ऐलान नही किया है।उम्मीद की जा रही है कि ताई के इस पत्र के बाद बीजेपी प्रत्याशी का ऐलान कर सकती है।


ताई ने जो लेटर लिखा है उससे साफ जाहिर है कि वह पार्टी से काफी नाराज चल रही है। ताई का यह पत्र कहीं ना कही बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका माना जा सकता। अब देखना बेहद दिलचस्प होगा कि पार्टी ताई के इस फैसले पर क्या रुख अपनाती है।

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED