उफ्फ़...मचल गए शिव

यहाँ पढ़ें...

भोपाल (मप्र) : विधानसभा चुनाव में हार के बाद हाशिये पर पहुंच गये पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी पार्टी की मंशा भांप चले हैं ।  यही एक बड़ी वजह है कि शिव ने एकला चलो रे वाले फंडे को अख्तियार कर लिया है। अब देखिये न दौरे पर दौरे किये जा रहें है शिव लेकिन अकेले अकेले....और तो और शिव ने भाजपा के अभियान "मेरा घर,भाजपा का घर" को भी परे कर दिया । जहां सारे भाजपाइयों ने अपने घर पर पार्टी का झंडा लहराया लेकिन उफ़्फ़... शिव के आवास पर झंडा नदारद था । राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से लेकर दक्षिण भारत के छोटे कार्यकर्ताओं ने तक अभियान में बढ़ चढ़ कर भाग लिया लेकिन शिव को अभियान याद न आया । 
सोशल मीडिया पर शिव के कई कार्यक्रम रोशन हुये लेकिन भाजपा का यह अभियान अंधेरे में था । 
अभियान में शिव ने शामिल न हो कर कम से कम इतना तो साफ कर दिया है कि पार्टी के अंदरखाने सब कुछ सामान्य नही है
 सही है साहब आखिर शिव भी कब तक सहन करते...बदली स्थिति में तो हम यही कहेंगे कि उफ़्फ़.. भोला मचल ही गये।

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED