परिणाम से पहले सियासी दलों की छटपटाहट

यहाँ पढ़ें...

evm अपने दिल मे बसा राज़ तो 23 मई को ही खोलेगी लेकिन उससे पहले exit polls ने ज़रूर कही खुशी कही घबराहट जैसा माहौल बना दिया है । 
अति उत्साही भाजपाई एग्जिट पोल के परिणामो को ही सच मान बैठे हैं । सौ फीसदी जीत मानते हुए कार्यकर्ताओं ने लड्डू भी बनाना शुरू कर दिया है । 
देखिये किस तरह से जीत की घोषणा से पहले ही मोदी के मुखौटे से मुंह ढाँपे भाजपाई बूंदी के लड्डू बनाने में मस्त हैं । 
तो साहब मुये एग्जिट पोल ने विपक्ष के मुंह का स्वाद कसैला कर दिया है । हालांकि एग्जिट पोल भगवान भरोसे वाली कवायद हैं लेकिन एक झटका तो दे ही देता है । 
पहले भी थोड़े असहज थे कांग्रेसी लेकिन अब तो नींद उड़ी पड़ी है । 
क्या करते...जा पहुंचे ऊपर वाले की शरण में । इंदौर के भेरू मंदिर में सरकार तो ठीक...साथ राहुल गांधी को पीएम बनाने की मनोकामना लेकर यज्ञ शुरु हो गया ।
एग्जिट पोल के परिणामों को लेकर कई तरह के कयास है । evm के चरित्र को भी संदेह से देखा जा रहा है । 
भाजपा हो या कांग्रेस दोनो ही evm को लेकर सतर्क हैं । दोनो ही पक्ष स्ट्रांग रूम के बाहर कुंडली मार के बैठे हैं । 
बैठे बैठे भी बोरियत होने लगी तो अपने फ़र्ज़ को निभाते हुए कुछ मनोरंजक करने की जुगाड़ भिड़ा ली । और शुरू हो गई अंताक्षरी ।
खैर...सियासी दलों के साथ हमें भी इंतज़ार है कि आखिर कौन मारता है बाजी । 
देखना वाकई दिलचस्प होगा कि बन रहे बूंदी के लड्डदुओं का स्वाद बरकरार रहता है या फिर भेरू बाबा का मिलता आशीर्वाद । 
कही ऐसा न हो जाये कि ..उफ़्फ़ बेचारे दोनो अंताक्षरी ही खेलते रह जाएं यानी कि कोई भी सरकार बनाने के लिए आवश्यक जादुई आंकड़ा हासिल ही न कर पाए ।

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED