उफ़्फ़.. दावे हुए हवा

यहाँ पढ़ें...

नई दिल्ली : स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के सबसे स्वच्छ शहरों के नाम का ऐलान कर दिया गया है। इंदौर एक बार फिर से भारत का सबसे स्वच्छ शहर चुना गया है। केंद्र सरकार के स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार तीसरे साल इंदौर को भारत का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को यहां एक कार्यक्रम में 'द स्वच्छ सर्वेक्षण अवार्ड' 2019 प्रदान किया। इस बार देश के सबसे स्वच्छ शहर, सबसे स्वच्छ राजधानी और 10 लाख की आबादी का सबसे स्वच्छ शहर का अवॉर्ड मध्य प्रदेश को मिला है। मध्यप्रदेश के इंदौर शहर ने जहां स्वच्छता सर्वे में फिर हैट्रिक लगाई है। वहीं भोपाल को सबसे स्वच्छ राजधानियों में पहला स्थान मिला है। 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में अहमदाबाद और पांच लाख से कम आबादी वाले शहरों में उज्जैन ने भी बाजी मारी है। हालांकि नंबर एक कि कवायद में इस बार भोपाल को स्वछता सर्वेक्षण में जोरदार झटका लगा है क्योंकि लगातार पिछले दो साल से नंबर दो पर चल रहे भोपाल को दो स्थान के नुकसान के साथ चौथा पायदान मिला है। नगर निगम की अपर आयुक्त मालिक निगम नागर का कहना है कि देश की राजधानियों में शहर पहले स्थान पर आया यह बड़ी उपलब्धि है। हमारे प्रयासों में कमी रह गई इसलिए भोपाल दूसरे से चौथे पर आया इसपर बैठ कर मंथन करेंगे कि कहां कमी रह गई। मालिक ने कहा कि शहर टॉप फाइव में आए यह भी बड़ी उपलब्धि है। स्वच्छ सर्वेक्षण में सात कैटेगरी के अनुसार शहरों को शमिल किया गया है। जिसके अनुरूप शहर के मेयरों को माननीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व्दारा पुरस्कृत किया गया है।

शहरों के नाम:-

सबसे स्वच्छ शहर : इंदौर

सबसे स्वच्छ बड़ा शहर : अहमदाबाद (10 लाख से ज्यादा आबादी वाला)

सबसे स्वच्छ मध्यम आबादी वाला शहर : उज्जैन (3 -10 लाख की आबादी)

सबसे स्वच्छ छोटा शहर : एनडीएमसी दिल्ली (3 लाख से कम आबादी)

सबसे स्वच्छ राजधानी : भोपाल सबसे स्वच्छ कैंटोनमेंट : दिल्ली कैंट

सबसे स्वच्छ गंगा टाउन : गौचर, उत्तराखंड

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED