उफ़्फ़यह.. नेताओ की हेकड़ी

यहाँ पढ़ें...

चुनावी मौसम में वोट के लिए नेता मतदाताओं के चरणों मे लमलेट है । तपती धूप में पसीने से तरबतर नेता जी...वादों और आश्वासनों की ढपली बजाए इस चौखट से उस चौखट को नापे पड़े हैं ..।
लेकिन कुछ ऐसा नेता भी है जिनकी हेकड़ी कम न हुई । ठसक ऐसी कि देखकर लगेगा कि नेता जी चुनाव प्रचार नही कर रहै बल्कि हम पर अहसान कर रहें हैं । 
सबसे पहले इन्हें देखिये यह नेता जी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं ...लेकिन नेता का गुरूर..उफ़्फ़ । 

अब इनको भी देखिये यह देश के बड़ी पुरानी पार्टी के नुमाइंदे हैं । शाही खानदान से भी आते है तो भला आम लोग कहाँ सहन होंगे ।
अब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष की भाषा भी सुनिये...भैया कहाँ कहाँ दिमाग दौड़ा लेते हो
छोटे मियां भी कम खुदा नही
 बड़े बड़े लोग गजब बड़ा मुंह खोल रहें हैं... लेकिन इस अंदाज

Comments



ताज़ा उफ्फ

TWITTER FEED